अयोध्या में होगा भव्य राम मंदिर का निर्माण: केशव प्रसाद मौर्य

अयोध्या में होगा भव्य राम मंदिर का निर्माण: केशव प्रसाद मौर्य

प्रयागराज। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शनिवार को अयोध्या में श्रीराम मंदिर के भव्य निर्माण का संकल्प दोहराया।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

प्रयागराज में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे उप मुख्यमंत्री ने उच्च न्यायालय के निकट निर्माणाधीन फ्लाई ओवर का निरीक्षण के दौरान संवाददाताओं से कहा कि श्रीराम मंदिर का निर्माण तो अयोध्या में ही होगा। श्रीराम करोड़ों देशवासियों के आस्था हैं। मंदिर का निर्माण उचित समय पर शुरु हो जायेगा। हालांकि वह मंदिर निर्माण शुरू होने की बात बड़ी कुशलता से मुस्करा कर टाल गये। शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के 25 नवम्बर को अयोध्या आने पर और रामलला के दर्शन करने पर श्री मौर्य ने कहा कि किसी के अयोध्या आने और रामलला के दर्शन पर सरकार को कोई आपत्ति नहीं है और सरकार ने उद्धव ठाकरे के कार्यक्रम पर कोई रोक भी अभी तक नहीं लगायी है। उन्होंने कहा है कि साधु संतों का अगर कोई सम्मान करता है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कुंभ 2019 की शानदार तैयारी कर रही है। वहीं कुंभ को लेकर कराये जा रहे सभी निर्माण कार्य गुणवत्ता के साथ तय समय में पूरे होंगे। कुंभ कार्यों की गुणवत्ता के लिए थर्ड पार्टी मानिटरिंग भी करायी जा रही है। कुंभ के निर्माण कार्यों में मानक का पूरा पालन होगा और गुणवत्ता के साथ कोई समझौता नहीं होगा। उन्होंने कहा सड़कों की गुणवत्ता की जांच के लिए न्यूक्लियर गेज के साथ जांच की जायेगी। कुंभ के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर सरकार की कड़ी नजर है। निरीक्षण के दौरान अधूरे पड़े कार्यों को देखकर समयबद्ध सीमा में पूरा कराने का अधिकारियों को निर्देश दिया। उन्होंने कहा है कि कुंभ कार्यों का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कराने की भी योगी सरकार तैयारी कर रही है। श्री मोदी ही विकास कार्यों को आम जनता और कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को समर्पित करेंगे। प्रयागराज में बन रहे नये सिविल एयरपोर्ट के नामकरण के सवाल पर श्री मौर्य ने कहा है कि किसी महापुरुष के नाम पर ही एयरपोर्ट का नाम रखा जायेगा। कुंभ कार्यों में लापरवाही पर सीएनडीएस के परियोजना प्रबंधक के निलंबन पर कहा है कि निर्माण कार्यों में लापरवाही के दोषी बक्शे नहीं जायेंगे चाहे कितना बड़ा अधिकारी हो या ठेकेदार। काम के गुणवत्ता में किसी प्रकार का समझौता नहीं होगा।

Share it
Top