बाघ के हमले से महिला की मौत...मजदूरी करके वापस लौट रही थी महिला

बाघ के हमले से महिला की मौत...मजदूरी करके वापस लौट रही थी महिला

बहराइच। उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के संरक्षित वन क्षेत्र कतर्नियाघाट के जंगल से निकल कर आये बाघ ने खेत में मजदूरी कर रही एक महिला पर हमला कर दिया और उसे घसीटकर जंगल में ले गया।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें


वन विभाग, सशस्त्र सीमा बल और पुलिस की सयुंक्त टीम ने ग्रामीणों के साथ दो घण्टे तक नदी के टापू की झाडिय़ों को खंगाला तथा महिला का शव गुरूवार देर शाम क्षत-विक्षत हालत में झाडिय़ों से बरामद किया। पुलिस सूत्रों ने शुक्रवार को यहां बताया कि बहराइच जिले में सुजौली क्षेत्र के आम्बा गाँव का एक छोर गेरुआ नदी तथा कतर्नियाघाट वन क्षेत्र से सटा हुआ है। इस इलाके में थारू जनजाति समाज के लोग रहते हैं। गुरूवार को महिलाओं का एक समूह मजदूरी के लिए आम्बा गाँव निवासी कल्लूराम के खेत में काम करने गया था। उन्होंने बताया कि महिलाएं खेत में अपने काम में लग गईं। इस बीच जंगल से खेत में घुस आये बाघ ने 4० वर्षीय गुलबिया नाम की महिला पर हमला कर दिया और उसकी गर्दन अपने जबड़े में दबोचकर नदी की ओर खींचने लगा। बाघ महिला को नदी के टापू पर झाडिय़ों में ले गया। मजदूर महिलाओं ने शोर मचाना शुरू किया, वहाँ बड़ी संख्या में भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग तथा सुजौली थाने की पुलिस और पास के एसएसबी कैम्प में दी। सूचना मिलते ही वनविभाग, एसएसबी तथा पुलिस की सयुंक्त टीम ने ग्रामीणों के साथ दो घण्टे तक नदी के टापू की झाडिय़ों को खंगाला। देर शाम महिला का क्षत-विक्षत शव टापू की झाडिय़ों में पड़ा मिला।

Share it
Top