मुख्यमंत्री सचिवालय के सामने का मामला....सड़क पर नमाज पढ़ता मौलाना थमा

मुख्यमंत्री सचिवालय के सामने का मामला....सड़क पर नमाज पढ़ता मौलाना थमा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री सचिवालय के सामने एक मौलाना द्वारा नमाज पढ़े जाने की घटना सामने आने के बाद पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। इस मामले दो पुलिस आरक्षियों को निलंबित कर दिया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधी नैथानी ने शनिवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री सचिवालय के सामने शुक्रवार शाम को करीब 7.45 बजे नमाज अता करने के वाले मौलाना को देर रात गिरफ्तार कर लिया है। उसकी पहचान लखनऊ के ऐशबाग क्षेत्र निवासी रफीक अहमद के रूप में हुई है। उन्होंने बताया रफीक अहमद बीच सड़क में नमाज पढ़ रहा था। उसके पास से एक चाकू भी बरामद हुआ है। उन्होंने बताया कि इस मामले दो आरक्षियों ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री सचिवालय के सामने सुरक्षा व्यवस्था को धत्ता बताते हुए शुक्रवार शाम हरी पगड़ी बांधे बुजुर्ग सड़क पर चादर बिछाकर नमाज पढऩे लगा। नमाज पढऩे के बाद उसने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और चला गया। घटना से चौराहे पर भीषण जाम लग गया। इसका वीडियों वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया।

एनेक्सी के सामने बीच सड़क पर नमाज पढऩे और सरकार के खिलाफ अपशब्द कहने के आरोप में उसे गिरफ्तार कर लिया गया। अपने दायीं ओर कमर में चाकू भी लगाए था। चौराहे के आस पास खड़े पुलिस कर्मी देखते रहे और कुछ देर बाद वह उठा और स्कूटी स्टार्ट कर चला गया। सूचना पर हजरतगंज पुलिस ने सीसी कैमरों से वीडियो निकाला। एसएसपी के निर्देश पर आरोपित के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई, जिसे देर रात गिरफ्तार कर लिया गया।

Share it
Top