भाजपा का सूपडा साफ करेगी जनता भाजपा में बढ़ रही है घबराहट: अखिलेश

भाजपा का सूपडा साफ करेगी जनता भाजपा में बढ़ रही है घबराहट: अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी चाहे जो दावा करे, लेकिन राज्य की जनता ने उसके सफाये मन बना लिया है।

श्री यादव ने रविवार को यहां जारी बयान में कहा कि जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा नेतृत्व की घबराहट बढ़ती जा रही है। उत्तर प्रदेश के उपचुनावों कैराना, गोरखपुर, नूरपुर, फूलपुर में भाजपा को जैसी करारी मात मिली है, उससे उनके होश उड़े हुए हैं। भाजपा को लगता है कि जो गठबंधन आकार ले रहा है वह उसकी दिल्ली दौड़ में बड़ा अवरोधक साबित होगा और फिर से कुर्सी पर बैठने के उनके इरादों में कामयाबी नहीं मिलेगी। भाजपा प्रदेश के चाहे जो दावा करती रहे, लेकिन जनता ने उसके सफाये का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने केन्द्र में चार साल बिता दिए और उत्तर प्रदेश में 16 महीने, लेकिन इस अवधि में उन्होंने जनहित में कोई ऐसा काम नहीं किया, जिसका उल्लेख किया जा सके। प्रदेश का किसान तबाह है, उसका न तो कर्ज माफ हुआ और नहीं उसको न्यूतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का लाभ मिलेगा। परेशान किसान आत्महत्या के लिए मजबूर है। दर-दर भटक रहें नौजवानों का भविष्य अंधेरे में है। न तो उन्हें नौकरी मिल रही है और नहीं उनके भविष्य की कोई योजना सामने आ रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबंदी और जीएसटी के बाद व्यापार चौपट है और कर्मचारियों की विभिन्न उद्योगों में छंटनी की जा रही है। तमाम दावों के बाद भी मंहगाई रूक नहीं रही है। श्री यादव ने कहा कि जनता की समस्याओं के निदान पर सोचने के बजाय भाजपा नेतृत्व बस मुद्दो को भटकाने की ही कवायद करता रहता है। मेरठ में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सिर्फ विपक्ष को कोसने और सामाजिक नफरत की राजनीति को धार देने की ही कोशिश की गई। गरीबों, पीडि़तों, वंचितों तथा समाज के कमजोर वर्गों के लिए उसमें कोई संदेश नहीं। उन्होंने कहा कि दरअसल, भाजपा का गरीबों, किसानों और कमजोर वर्ग के लोगों के साथ कभी कोई रिश्ता नहीं रहा है। भाजपा की लोक लुभावन घोषणाओं के बहकावे में प्रदेश की जनता आने वाली नहीं है। एक झूठ को सौ बार दुहराने की कला में पारंगत भाजपा नेतृत्व अब चाहे जितना जतन कर ले, 2०19 के चुनावों में जनता किसी भी तरह इनको समर्थन देने वाली नहीं है। भाजपा की हालत फिर से 2००4 की होगी, जब साइनिंग इण्डिया को जनता ने नकार दिया था। अब अच्छे दिनों का धोखा भी सबके सामने होगा। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के हो-हल्ले से गरीब की आवाज दबाई नहीं जा सकती है। उन्होंने कहा कि समाजवादी नौजवान साइकिल लेकर भाजपा की पोल खोलने निकल पड़ा है। अब समाज का कोई भी वर्ग भाजपा के भ्रमजाल में फंसने वाला नहीं है। इन लोगों का स्वतंत्रता आंदोलन के मूल्यों से कोई सम्बंध नहीं रहा है, इसलिए लोकतंत्र का भी सौदा करने का सपना देखने वाले भाजपा नेतृत्व को समझ लेना चाहिए कि जनता अब जाग चुकी है। वह समाजवादी सरकार के पांच सालों के विकास को भूली नहीं है। किसानों, गरीबों, और नौजवानों का गठबंधन भाजपा की केन्द्र सरकार के लिए उल्टी गिनती का संकेत है।

Share it
Top