कार्य समिति की बैठक में भाजपा ने किया दावा...योगी राज में विकास की राह पर उत्तर प्रदेश

कार्य समिति की बैठक में भाजपा ने किया दावा...योगी राज में विकास की राह पर उत्तर प्रदेश

मेरठ। भारतीय जनता पार्टी की कार्यसमिति ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार को बधाई देते हुए कहा कि मौजूदा नेतृत्व ने कुशल कार्यशैली की बदौलत उत्तर प्रदेश को गरीबी, अनिश्चितिता के दलदल से न सिर्फ उबारा, बल्कि कानून व्यवस्था में अप्रत्याशित सुधार की बदौलत यह राज्य निवेशकों के लिये आकर्षण का केन्द्र बना।

कार्यसमिति ने रविवार को एक प्रस्ताव पारित कर कहा कि योगी सरकार के कार्यकाल में किसानों की समस्यायों का समाधान हुआ, जिससे उनके चेहरों पर मुस्कान आयी। इसके साथ ही प्रदेश में रोजगार के नये अवसर पैदा करने में सरकार को अपेक्षित सफलता हासिल हुई। प्रस्ताव में कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में राज्य सरकार ने लोकतांत्रिक मूल्यों को और मजबूती प्रदान की, जिससे आम जनमानस की आवाज और मुखर हुई। प्रस्ताव को पार्टी के प्रदेश सचिव विद्यासागर सोनकर ने प्रस्तुत किया, जिसे उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और अन्य ने अनुमोदन किया। प्रस्ताव में पेश विभिन्न सदस्यों के 142 सुझावों में से अधिकतर ध्वनि मत से पारित हो गये। पार्टी नेताओं ने एक सुर में कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य को विकास के पथ पर अग्रसर करने में महती भूमिका निभायी। प्रस्ताव में कहा गया कि सरकार ने गरीबों को दवा, नौजवानों को रोजगार, किसानों को सिंचाई की सुविधा और छात्रों को शैक्षिक सुविधायें उपलब्ध करायी। प्रस्ताव को नौ मुख्य बिंदुओं में विभक्त किया गया था जिसमे कृषि, कानून व्यवस्था, निवेश, सहकारिता और संस्कृति शामिल हैं। प्रस्ताव में किसानों के मुद्दे पर विशेष जोर दिया गया कि सरकार किस प्रकार किसानों को उनके उत्पाद का बेहतर मूल्य दिला सकती है। इसके अलावा सरकार ने कृषि ऋण और गन्ना बकाये के भुगतान में क्या पहल की है। इसके अलावा कानून व्यवस्था प्रस्ताव में एक अन्य महत्वपूर्ण मुद्दा रहा जिसके लिये कहा गया कि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में कानून व्यवस्था की हालत चरमरा गयी थी। नेता और मंत्री अपराधियों के शरणदाता बने हुये थे लेकिन भाजपा सरकार ने गुंडो बदमाशों को जेल की हवा खिलायी और कई माफिया प्रदेश छोडने को बाध्य हुए। सरकार लोगों का विश्वास हासिल करने में सफल रही, जिसके परिणामस्वरूप उत्तर प्रदेश में निवेश का माहौेल बना और देश के कई जानेमाने औद्योगिक घराने यहां उद्यम लगाने को राजी हुये। प्रस्ताव में एक जिला एक उत्पाद योजना की भी चर्चा हुयी। इसके अलावा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे और बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण की योजना को प्रदेश के बुनियादी ढांचे का अहम पडाव माना गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की आधारशिला रख चुके है। यह एक्सप्रेसवे पूर्वी उत्तर प्रदेश की शक्ल बदल देगा। प्रस्ताव में कहा गया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के पदचिन्हो का अनुसरण करती हुयी योगी सरकार जन आंकाक्षाओं पर खरी उतरी है और अगले साल पार्टी नरेन्द्र मोदी की लोकसभा चुनाव में जीत सुनिश्चित करेगी जिससे वह एक बार फिर देश की बागडोर प्रधानमंत्री के तौर पर संभाल सके।

Share it
Top