मुलायम परिवार को लगा करारा झटका, धर्मेन्द्र-अक्षय भी हारे...कन्नौज से डिम्पल यादव की हार से पूरा परिवार सदमे में

मुलायम परिवार को लगा करारा झटका, धर्मेन्द्र-अक्षय भी हारे...कन्नौज से डिम्पल यादव की हार से पूरा परिवार सदमे में

मुजफ्फरनगर। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की वह भविष्यवाणी सच हो गयी है, जिसमें उन्होंने संसद में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फिर से देश का प्रधानमंत्री बनने की घोषणा कर दी थी, लेकिन इस सबके बीच मुलायम परिवार के तीन महत्वपूर्ण सदस्यों की हार से पूरा परिवार सदमे में है। विशेषकर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की धर्मपत्नि श्रीमती डिम्पल यादव की कन्नौज से हुई हार को लेकर पूरा परिवार बेहद दुखी है। बंदायू से धर्मेन्द्र यादव व फिरोजाबाद से अक्षय यादव की हार से सभी मुलायम परिवार को करारा झटका लगा है। मुलायम परिवार में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष पद को लेकर शुरू हुई रार के बाद से ही पार्टी का पतन शुरू हो गया था। मुलायम सिंह यादव को अध्यक्ष पद से हटाकर उनके पुत्र अखिलेश यादव अध्यक्ष बन गये थे। इस बात को मुलायम के छोटे भाई शिवपाल यादव बर्दाश्त नहीं कर सके थे और उन्होंने समाजवादी पार्टी छोडकर अपनी नई पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का गठन कर लिया था और लोकसभा चुनाव में धर्मेन्द्र यादव व डिम्पल यादव के सामने अपनी पार्टी के प्रत्याशी उतार दिये, जबकि पिफरोजाबाद से प्रोफेसर रामगोपाल यादव के पुत्रा अक्षय यादव के सामने तो खुद शिवपाल ही मैदान में उतर गये थे। यहीं कारण रहा कि पारिवारिक कलह के चलते समाजवादी पार्टी को भारी नुकसान उठाना पडा। बसपा से गठबंधन के बावजूद भी मुलायम परिवार के तीन सदस्यों की हार में सबसे बडा योगदान शिवपाल सिंह यादव का माना जा रहा है। मुलायम परिवार के तीन सदस्यों की हार से परिवार के मुखिया मुलायम सिंह यादव सबसे ज्यादा सदमे में है। वह डिम्पल यादव, धर्मेन्द्र यादव व अक्षय यादव की हार को लेकर गुस्से में भी है और शिवपाल से खासे नाराज है। मुलायम परिवार के लिए संतोष की बात यह है कि मुलायम सिंह यादव मैनपुरी से व अखिलेश यादव आजमगढ से चुनाव जीत गये हैं।

Share it
Top