सजा के भय से तनाव में रहे आसाराम

सजा के भय से तनाव में रहे आसाराम

जयपुर। राजस्थान के जोधपुर केंद्रीय कारागार में लगभग पौने पांच साल से बंद नाबालिग से यौन शोषण के आरोपी कथावाचक आसाराम की आज की दिनचर्या सामान्य रही, हालांकि उनके चेहरे पर तनाव देखा गया। कारागार के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आसाराम आज सवेरे आम दिनों की अपेक्षा जल्दी उठे और रात भर बैचेनी में रहे। उनके चेहरे पर सजा का भय बना रहा। आसाराम आज सवेरे चार बजे उठे और आम दिनों की तरह उन्होंने आज किसी तरह का व्यायाम नहीं किया। बताया जाता है कि आसाराम सवेरे जल्दी उठे और दैनिक क्रिया से फारिग होकर पूजा अर्चना की। पूजा अर्चना के दौरान वह काफी तनाव में देखे गये और उनके चेहरे पर सजा का भय के साथ मायूसी देखी गयी। जोधपुर उच्च न्यायालय ने राजस्थान पुलिस की गुहार पर मामले का फैसला जेल में ही अदालत लगाकर करने का आदेश दिया था। इसके तहत आज जेल में ही अस्थाई अदालत लगायी गयी। एसटीएससी कोर्ट के पीठासीन अधिकारी मधुसुदन शर्मा ने मामले की सुनवाई पूरी करते हुये सात अप्रैल को फैसला सुरक्षित रखते हुये 25 अप्रैल को अंतिम निर्णय सुनाने के आदेश दिये थे।

Share it
Top