अलवर के पहलू खान मॉब लिंचिंग मामले में सात आरोपित बरी

अलवर के पहलू खान मॉब लिंचिंग मामले में सात आरोपित बरी


अलवर। अलवर के अपर जिला एवं सत्र न्यायालय ने पहलू खान मॉब लिंचिंग (उन्मादी भीड़ की हिंसा) मामले में सभी सात आरोपितों को बुधवार को बरी कर दिया है। पहलू खान हत्याकांड में नौ आरोपित पकड़े गए थे, जिनमें दो नाबालिग हैं। अपर जिला एवं सत्र न्यायालय ने सात आरोपितों पर फैसला सुनाया है। दो नाबालिग आरोपितों पर सुनवाई जुवेनाइल कोर्ट में चल रही है।

अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (संख्या-1) डॉ. सरिता स्वामी ने सात अगस्त को मामले की सुनवाई पूरी कर बुधवार के लिए फैसला सुरक्षित रखा था। एक अप्रैल 2017 को पहलू खान की गोतस्करी के आरोप में उन्मादी भीड़ ने पीट-पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। चार अप्रैल को उन्होंने अस्पताल में दम तोड़ दिया था। अस्पताल में पुलिस ने पहलू खान का बयान दर्ज किया था, जिसके आधार पर एफआईआर दर्ज की गयी थी।

हरियाणा के नूंह जिले के ग्राम जयसिंहपुर निवासी 55 वर्षीय पहलू खां अपने दो बेटों आरिफ और इरशाद के साथ पिकअप गाड़ी में जयपुर के हरमाड़ा से दो गाय खरीद कर अपने घर ले जा रहा था। शाम करीब सात बजे बहरोड़ पुलिया से आगे निकलने पर भीड़ ने पिकअप गाड़ी को रुकवा कर पहलू और उनके दोनों बेटों से मारपीट की थी। कुछ देर बाद पीड़ित पक्ष का दूसरा वाहन भी मौके पर आ गया था, जिसमें तीन गायों के साथ अजमत और रफीक नाम के शख्स बैठे थे। उनके साथ भी मारपीट की गई। इस मामले का ट्रायल एडीजे कोर्ट बहरोड़ में शुरू हुआ था। बाद में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मामले को अलवर की अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (संख्या-1) की अदालत में सुनवाई के लिए स्थानांतरित किया गया था।


Share it
Top