आरक्षण को लेकर महिलाओं और पुलिस के बीच पथराव

आरक्षण को लेकर महिलाओं और पुलिस के बीच पथराव



जयपुर । राजस्थान के सीकर में कहारों का आरक्षण में वर्गीकरण करने और उन्हें अनुसूचित जाति में शामिल करने की मांग को लेकर आज महिलाओं और पुलिस के बीच जमकर लाठी भाटा जंग हुयी जिसमें एक पुलिस कर्मी घायल हो गया तथा कई वाहनों के शीशे फूट गये।

लाठियों से लैस होकर महिलाओं के जंग में उतरने से पुलिस को भारी परेशानी का सामना करना पडा और अंत में समझाईश के बाद महिलाओं ने अपना आंदोलन स्थगित किया।

कहारों के लिये अलग से आरक्षण में वर्गीकरण तथा उन्हें अनुसूचित जाति में शामिल करने की मांग को लेकर आज सवेरे साढे आठ बजे भारी संख्या में महिलाएं ने हाथों में लाठियां लेकर कहारों की ढाणी के पास रास्ता जाम कर प्रदर्शन किया। महिलाओं के रास्ता जाम करने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें समझाईश कर वहां से हटाया तो वे राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहुंच गयी ओर वहां उन्होंने रास्ता जाम कर दिया। पुलिस द्वारा सख्ती करने पर भीड़ ने पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया। इसके बचाव ने पुलिस ने भी लाठीचार्ज कर दिया जिससे कुछ महिलाओं सहित अन्य लोगों को चोटें आयी हैं। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने समझाईश देकर माहौल को शांत किया और रास्ता खुलवाया।

राणोली थानाधिकारी महेन्द्र मीणा ने बताया कि महिलाओं द्वारा किये गये पथराव से नेमी चंद नामक एक कांस्टेबल के नाक पर चोट लगी है तथा निजी वाहनों सहित पुलिस की कई गाडियोंं के शीशे फूट गये है। उन्होंने बताया कि स्थिति पर नियंत्रण करने के लिये सीकर से भी अतिरिक्त पुलिस जाब्ता बुला लिया गया था।

उन्होंने कहा कि फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण एवं नियंत्रण में है तथा एेहतियात के तौर पर पुलिस चौकसी बढ़ा दी गयी है। उन्होंने बताया कि अभी तक पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है।


Share it
Top