युवक को बचाने में विदेशियों ने लगायी जान की बाजी

युवक को बचाने में विदेशियों ने लगायी जान की बाजी


जोधपुर । राजस्थान के जोधपुर में झालरा में डूब रहे एक युवक को बचाने के लिये दो विदेशियों ने अपनी जान की बाजी लगा दी लेकिन वह युवक को बचाने में असफल रहे।
पुलिस के अनुसार माणक चौक क्षेत्र में स्थित तूरजी का झालरा में कल रात लगभग आठ बजे एक युवक पानी में गिर गया जिसे देख वहां भीड़ लग गयी। लोगों द्वारा युवक को बचाने की आवाजें सुनकर वहां पास में ही घूम रही जर्मन पर्यटक लुइसा ने उसे बचाने के लिये पानी में छलांग लगा दी । यह देख झालरा के सामने ही स्थित एक गेस्ट हाउस में ठहरे कोरियाई पर्यटक ह्यून जीक किम भी लुइसा की मदद के लिए पानी में कूद गया।
पुलिस के अनुसार दोनों ने युवक को बचाने के लिए पानी में खूब हाथ-पैर मारे लेकिन युवक को ढूंढने में असफल रहे। बाद में मौके पर पहुंचे गोताखारों ने एक डेढ घंटे बाद झालरा में झाडियों के बीच फंसे युवक को बाहर निकाला लेकिन तब तक उसकी मृत्यु हो चुकी थी।
घण्टाघर चौकी के हैड कांस्टेबल सुरताराम ने बताया कि युवक की पहचान नहीं हो पाई है। उन्होंने बताया कि
युवक 20-22 साल का है और उसकी दायीं कलाई पर 'केके' लिखा है।
पुलिस ने शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है और उसकी शिनाख्त करने में जुटी हुयी है।

Share it
Top