लड़कियों को मिले अवसर चुनने की आजादी- राजे

लड़कियों को मिले अवसर चुनने की आजादी- राजे


जयपुर । राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने लड़कियों को जीवन में आगे बढने देने की वकालत करते हुये कहा कि परिवार और समाज को उन्हें अपना करियर संवारने और शादी के समय के बारे में स्वयं निर्णय लेने के अधिकार देना चाहिए।
श्रीमती राजे ने आज यहां फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन के दूसरे दिन आयोजित सत्र में कहा लड़कियाें को यदि शिक्षा मिल जाए तो वे अपना ये अधिकार और सम्मान पा सकती हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल, कार्यस्थल और आम जीवन में लिंग भेद को दूर करने का भी यही तरीका है कि लड़कियां लड़कों के साथ भेदभाव के बिना पढे़ं और आगे बढे़ं।
उन्होंने कहा कि वर्तमान डिजिटल दौर में लड़कियों के लिए आगे बढ़ने के असीमित मौके हैं, लेकिन इन्हें हासिल करने के लिये उन्हें अच्छी शिक्षा लेनी होगी और कुशल बनना होगा। उन्होंने कहा कि बालिकाओं को सशक्त बनाने के लिए उनके अभिभावकों और समाज सभी को साथ जुटना होगा।
उन्होंने प्रदेश के स्कूलों मेंं स्वच्छता, शौचालयों, सेनेटरी नेपकिन और पानी की उपलब्धता की आवश्यकता को रेखांकित करते हुए कहा कि बालिकाओं की उपस्थिति बढ़ाने और उनकी पढ़ाई को सुचारू रखने के लिए राज्य सरकार ने इस दिशा में गंभीर प्रयास किए हैं और उनके सार्थक परिणाम भी मिलने लगे हैं।
उन्होंने कहा कि मासिक धर्म जैसी प्राकृतिक शारीरिक क्रिया के चलते लड़कियों को स्कूल से छुट्टी करने की नौबत न आए इसके लिए सभी स्कूलों में अनिवार्य रूप से सेनेटरी नेपकिन मशीनें उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने बालिकाओं को पढ़ो लिखो और स्वस्थ रहो का संदेश दिया तथा लड़कों से उनके प्रति सकारात्मक सोच रखने और सम्मान देने की अपील की।

Share it
Top