किसी जमीन पर कब्जा करने के लिए कोई नमाज पढ़ता है तो उसे स्वीकार नही किया जा सकता : अनिल विज

किसी जमीन पर कब्जा करने के लिए कोई नमाज पढ़ता है तो उसे स्वीकार नही किया जा सकता : अनिल विज



अंबाला। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के सार्वजनिक स्थानों पर नमाज को लेकर विवादास्पद बयान के बाद आज स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोई किसी जमीन पर कब्जा करने के लिए नमाज पढ़ता है तो उसे स्वीकार नहीं किया जा सकता।
मुख्यमंत्री ने रविवार को कहा था कि नमाज मस्जिदों या ईदगाहों में पढ़ी जानी चाहिए, सार्वजनिक स्थानों पर नहीं। आज श्री विज ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि संविधान इसकी इजाजत देता है कि कोई भी अपने धर्म की पद्धति से पूजा-प्रार्थना कर सकता है और इसकी इजाजत दी जा सकती है लेकिन किसी भी जमीन पर कब्जा करने के लिए नमाज पढ़ता है तो उसे स्वीकार नहीं किया जा सकता।
श्री खट्टर के पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह को रावी (पंजाब) का पानी पाकिस्तान न जाने देने के बारे में लिखी चिट्ठी के संदर्भ में सवाल के जवाब में श्री विज ने कहा कि ये समझ तो उन्हें (कैप्टन को) खुद होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पानी पाकिस्तान न जाये और हरियाणा, राजस्थान के काम आए इसी को लेकर पत्र लिखा गया है।
कथित रूप से पुत्र प्राप्ति के लिए दवाई देने वाली एक महिला के घर छापा मारने गई करनाल स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा किसी भी कीमत पर सरकारी ड्यूटी कर रहे डाक्टर पर हमला करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने डीजीपी को इस मामले में सख्त कार्यवाई के आदेश दिए।

Share it
Top