टी वी सीरियल 'राम सिया के लव कुश' के विरोध में पंजाब बंद, एक घायल

टी वी सीरियल



जालंधर। एक निजी टीवी चैनल कलर्स पर प्रसारित किए जा रहे सीरियल 'राम-सिया के लव कुश' में भगवान वाल्मीकि की जीवनी को तोड़मरोड़ कर पेश करने का आरोप लगाते हुए वाल्मिकी समुदाय के लोग आज सड़कों पर उतर आए।

सीरियल बंद करने की मांग को लेकर भगवान वाल्मीकि टाइगर फोर्स ऑल इंडिया एक्शन कमेटी एवं श्री गुरु रविदास टाइगर फोर्स ने पंजाब बंद का आह्वान किया था। आज पंजाब बंद के आह्वान पर जालंधर, लुधियाना, तरनतारन, फिरोजपुर, फाजिल्का, भोगपुर आदि में पूर्ण बंद रहा।

प्रदर्शनकारियों ने जालंधर में सड़कों पर प्रदर्शन के दौरान टायरों को आग लगा दी। नकोदर रोड़, लम्बा पिंड और पठानकोट चौक पर प्रदर्शनकारियों ने धरना देकर यातायात पूरी तरह से रोक दिया, जिसके कारण अमृतसर और जम्मू की तरफ जाने वाले हजारों वाहन जाम में फंसे रहे। नकोदर में बंद के दौरान बाबा मुराद शाह रोड पर एक दुकान पर काम कर रहे मुलाजिमों को प्रदर्शनकारियों ने रोका तो दुकान मालिक ने अपने बचाव के लिए गोली चलाई, जिसमें एक व्यक्ति घायल हो गया है। घायल व्यक्ति की पहचान गुरप्रीत निवासी गुरु नानक पुरा के रूप में हुई है। उसे नकोदर के कमल अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे जालंधर रेफर कर दिया। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। प्रदर्शनकारियों ने अमृतसर में ट्रेन रोकी, जबकि फाजिल्का में दुकानदार और वाल्मीकि समुदाय के लोगों में भिड़ंत हो गई। भिड़ंत में एक व्यापारी घायल हो गया।

उधर, वाल्मीकि समुदाय के बंद आह्वान के चलते फाजिल्का के अधिकतम बाजार सुबह के समय बंद रहे। पूर्वाह्न करीब 11 बजे वाल्मीकि समुदाय की ओर से शहर में रोष मार्च निकाला गया। यह रोष मार्च जब मेहरियां बाजार के निकट पहुंचा तो एक दुकान को खुला देकर दुकानदार और वाल्मीकि समुदाय के लोगों में भिड़ंत हो गई। देखते ही देखते भिड़ंत ने गंभीर रूप धारण कर लिया। इस दौरान वाल्मीकि समुदाय के साथ आये लोगों ने दुकान के बाहर पड़ा सामान बिखेर दिया। इस दौरान व्यापार मंडल और आसपास के दुकानदार भी वहां एकत्र हो गया। साथ-साथ चल रहे नगर थाना प्रभारी नवदीप सिंह भट्टी मौके पर पहुंचे और दोनों गुटों को अलग-अलग करने का प्रयास किया।

काफी मशक्कत के बाद जब दोनों समूह अलग-अलग हुए तो वाल्मीकि समुदाय के लोग डीसी मनप्रीत सिंह से मिलने के लिए उनके कार्यालय में पहुंचे। दूसरी तरफ रोषित व्यापार मंडल बाजारों में रोष मार्च निकालते हुए एसडीएम कार्यालय के निकट पहुंचा। इस दौरान वाल्मीकि समुदाय के लोग भी डी सी मनप्रीत सिंह से मिलकर बाहर आ गए। इसके बाद फिर से दोनों गुटों में टकराव हो गया और इस दौरान एक व्यापारी जख्मी भी हो गया। पुलिस ने दोनों गुटों को अलग किया और वहां से वाल्मीकि समुदाय के लोगों को भेज दिया। इसके बाद व्यापार मंडल के प्रधान और सदस्यों ने डी सी मनप्रीत सिंह व एसएसपी डॉ. भूपिंद्र सिंह को पूरी घटना के बारे में बताया और मांग की कि दुकानदार का सामान बिखेरने वाले और एक दुकानदार को जख्मी करने वाले लोगों के खिलाफ पर्चा दर्ज किया जाए। जब तक ऐसा नहीं होता तब तक व्यापार मंडल द्वारा दुकानें बंद रखी जाएंगी।

अमृतसर और बरनाला में समुदाय के लोग सुबह की सड़कों पर उतर आए और दुकानें बंद करवाने लगे। अमृतसर में समुदाय के लोगों ने वल्ला रेलवे फाटक पर शताब्दी ट्रेन को 40 मिनट तक रोके रखा। पुलिस मौके पर पहुंची तो मांग पत्र दिया। इसके बाद ट्रेन को जाने दिया गया है। बरनाला में समुदाय के लोगों ने वाल्मीकि चौक पर विरोध प्रदर्शन किया और दुकानें बंद करवाई।

वाल्मीकि समुदाय के प्रदर्शन को देखते हुए प्रदेश भर में पुलिस अलर्ट है। चैनल ने पंजाब में सीरियल के प्रसारण पर रोक लगा दी है। अमृतसर के डीसीपी जगमोहन सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से यह सीरियल पंजाब में केबल नेटवर्क पर बंद करने के आदेश दिए हैं। वाल्मीकि समाज के संगठन इस बात पर अडिग हैं कि यह सीरियल बंद होना चाहिए और अमृतसर सिटी ने जो मामला दर्ज किया गया है, उनमें नामजद व्यक्तियों को गिरफ्तार किया जाए।


Share it
Top