महज दो यात्रियों को लेकर पाकिस्तान रवाना हुई 'सदा-ए-सरहद' बस

महज दो यात्रियों को लेकर पाकिस्तान रवाना हुई सदा-ए-सरहद बस


चंडीगढ़। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान द्वारा समझौता एक्सप्रेस रोके जाने के बाद दिल्ली से लाहौर जाने वाली सदा-ए-सरहद बस सेवा को भी रोकने की बात कही गई थी लेकिन शनिवार सुबह भारत की ओर से सदा-ए-सरहद बस को कड़ी सुरक्षा में दिल्ली से लाहौर के लिए रवाना किया गया। सुबह साढ़े आठ बजे रवाना हुई बस में सिर्फ दो यात्री थे। यह बस शाम पांच बजे लाहौर पहुंचेगी।

दिल्ली से लाहौर जाने के लिए निकली बस को कुरूक्षेत्र स्थित पिपली पैराकीट में थोड़े समय के लिए रोका गया था। हालांकि इस दौरान किसी यात्री को बस से उतरने नहीं दिया गया। आधे घंटे के यात्रा ठहराव के दौरान बस स्टाफ ने यात्रियों के साथ नाश्ता किया, जिसके बाद कड़ी सुरक्षा में बस लाहौर के लिए रवाना हुई। पाकिस्तानी नागरिकों की सुरक्षा में किसी प्रकार की चूक न हो इसके लिए सदर थाना प्रभारी अजय मोर खुद मौके पर मौजूद रहे।

थाना प्रभारी अजय मोर ने बताया कि पाक जाने वाली बस पिपली पैराकीट में करीब आधा घंटा रुकी थी। इस दौरान पैराकीट में कड़ी सुरक्षा रही और दो पायलट गाड़ियों की अगुवाई में बस पाकिस्तान के लिए रवाना हुई। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की ओर से बस सेवा बंद करने की सही जानकारी सोमवार को पता चल सकेगी क्योंकि रविवार को दोनों देशों के बीच बस सेवा बंद रहती है। वैसे पाकिस्तान के संचार मंत्री मुराद सईद की ओर से शुक्रवार रात्रि ट्वीट कर लाहौर से दिल्ली के लिए चलने वाली बस सेवा रोकने की जानकारी दी गई थी।

यह है शैड्यूल

भारतीय बस का संचालन दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और पाकिस्तान पर्यटन विकास निगम की ओर से किया जा रहा है। दोनों देशों से सोमवार को बसें दिल्ली एवं लाहौर के लिए रवाना होती हैं। इस बसों का रात्रि ठहराव अपने-अपने गंतव्य दिल्ली और लाहौर में होता है। दोनों देशों की बसें वाघा बॉर्डर,अमृतसर से होकर चलती हैं, जिनका ठहराव कुरुक्षेत्र के पैराकीट में होता है।

उल्लेखनीय है कि दोनों देशों के बीच उपजे तनाव के बीच शुक्रवार को दिल्ली से लाहौर के लिए रवाना हुई भारतीय बस में कुल 26 यात्री सवार थे। यह संख्या बीते कुछ दिनों की बस सेवा के लिहाज से काफी ज्यादा है। यह भी बताया गया कि शुक्रवार दोपहर बाद लाहौर से दिल्ली आने वाली पाकिस्तानी बस पिपली के पैराकीट में नहीं रुकी थी।


Share it
Top