भोपाल में भारी बारिश से गिरी जर्जर मकान की दीवार, मां और दो बच्चियों की मौत

भोपाल में भारी बारिश से गिरी जर्जर मकान की दीवार, मां और दो बच्चियों की मौत



भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बीती रात जोरदार बारिश हुई। इसके चलते शहर के कमलानगर थाना इलाके में एक जर्जर मकान की दीवार ढह गई। इस हादसे में दो बच्चियों और उनकी मां की मौत हो गई। सूचना मिलने पर नगर निगम और प्रशासन के अधिकारी रात में ही मौके पर पहुंच गए और राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू की। भोपाल कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है।

बता दें कि मौसम विभाग ने सोमवार को आगामी 48 घंटे तक प्रदेशभर में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया था। भोपाल में सोमवार को दिनभर रुक-रुककर बारिश होती रही, लेकिन शाम होते ही तेज बारिश का दौर शुरू हो गया, जो मंगलवार को सुबह तक जारी रहा। इस दौरान सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात भोपाल के कमला नगर थाना स्थित धोबी घाट इलाके में कमला पार्क के पास जर्जर हालत में पहुंच चुके एक सरकारी मकान की दीवार ढह गई। इस हादसे में मकान में रहने वाली शुमाइला (मां) और उनकी दो बेटियों तंजीम और अरीबा की दीवार की चपेट में आने से मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उनके पति गंभीर रूप से बीमार हो गए, जिन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती किया गया है। सूचना मिलने पर नगर निगम कमिश्नर अविनाश लवानिया, कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े सहित अन्य अधिकारी रात में ही मौके पर पहुंच गए और राहत एवं बचाव कार्य शुरू करवाया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मृतकों के शव हमीदिया अस्पताल पहुंचाए, जहां मंगलवार को सुबह उनका पोस्टमार्टम हुआ। इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए।

सूचना मिलने पर प्रदेश के राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता भी रात में ही घटनास्थल पर पहुंच गए और उन्होंने मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधाते हुए शासन की तरफ से पूरी मदद का आश्वासन दिया। कलेक्टर ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की।


Share it
Top