बेटियों से खेत की जुताई कराने पर आयोग ने मांगा कलेक्टर से जबाव

बेटियों से खेत की जुताई कराने पर आयोग ने मांगा कलेक्टर से जबाव

भोपाल। मध्यप्रदेश के सीहोर जिले में परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर बैल की जगह बेटियों के सहारे खेत की जुताई के मामले में मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने संज्ञान लेकर कलेक्टर से रिपोर्ट तलब की है। आयोग द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार सीहोर जिले की नसरूल्लागंज तहसील के ग्राम बसंतपुर पांगरी में सरदार बारेल नामक किसान द्वारा बैल की जगह अपनी दो बेटियों से खेत की जुताई की खबर पर संज्ञान लेकर कलेक्टर रिपोर्ट तलब की है। सूत्रों के अनुसार किसान का कहना है कि उनके पास न तो बैल खरीदने के लिए पैसे हैं ओर न ही ट्रेक्टर से खेत जुतवाने के। परिवार की आर्थिक स्थिति सही नहीं होने की वजह से उसकी दोनों बेटियां राधिका एवं कुंती की पढाई छूट चुकी है। उसे मक्के की फसल की बुआई करनी थी जिसके लिए उसने दोनों बेटियों के सहारे खेत की जुताई की।

Share it
Top