हार्दिक पटेल ने गुजरात मॉडल का उड़ाया माखौल..कहा, 16 हजार गांवों में आकर देख लें तो गुजरात मॉडल की पोल खुल जाएगी

हार्दिक पटेल ने गुजरात मॉडल का उड़ाया माखौल..कहा, 16 हजार गांवों में आकर देख लें तो गुजरात मॉडल की पोल खुल जाएगी

खंडवा। लोकसभा क्षेत्र खण्डवा से कांग्रेस उम्‍मीदवार अरुण यादव के पक्ष में देवास जिले के विधानसभा क्षेत्र बागली के चापड़ा में बुधवार को आयोजति जनसभा में गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने मोदी के गुजरात मॉडल का जमकर मखौल उड़ाया। उन्‍होंने कहा कि मैं मोदी के गुजरात से नहीं महात्मा गांधी और सरदार पटेल के गुजरात से आया हूं।

जनसभा में गुजरात मॉडल का मजाक उड़ाते हुए हार्दिक ने कहा कि यदि आप गुजरात के 16 हजार गांवों में आकर देख लें तो गुजरात मॉडल की पोल खुल जाएगी । 10 हजार गांवों में पेयजल का अभाव है । 5500 किसानों ने आत्महत्याएं की हैं । 55 हजार नौजवान बेरोजगार हैंं । मैं मध्यप्रदेश की मेहरबानी का शुक्रिया अदा करता हूं कि आप हमें (गुजरात) नर्मदा का पानी दे रहे हैं । इसके लिए गुजरात में कांग्रेस सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. चिमनभाई पटेल ने तत्कालीन केन्द्र सरकार और मध्यप्रदेश से विनती की थी । उसके परिणामस्वरूप हमें मध्यप्रदेश से पानी तो मिल रहा है, किन्तु हम उसका उपयोग नहीं कर पा रहे हैं । हमारे नर्मदा का पानी का उपयोग अड़ानी और अम्बानी कर रहे हैं । वहां का किसान आज भी खुद को और अपने खेतों को प्यासा पा रहा है।

लोकसभा चुनाव : अंतिम दो चरणों के लिए दिग्गजों ने झोंकी ताकत

यह भी पढ़ें

भाजपा पर हमला करते हुए हार्दिक ने कहा कि भाजपा सत्ता के बिना नहीं रह सकती । मोदी को सत्ता जाने का भय सता रहा है । देश उन्हें पूरी तरह समझ चुका है । जो विचारधारा मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम सहित पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटलबिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवानी, मुरली मनोहर जोशी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की नहीं हुई, वह देश की जनता की कैसे हो सकती है । हम सब मिलकर 19 मई को अपने मतदान के माध्यम से भारत को विश्वगुरू बनाने और बाबा साहेब अम्बेडकर के संविधान को बचाने का संकल्प लें।

कांग्रेस उम्‍मीदवार अरुण यादव ने कहा कि खण्डवा के चुनाव तीस साल बनाम पांच साल का स्पष्ट संदेश है । विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने अपने वचनपत्र के अनुसार जनता के बीच जो वायदे किये हैं, वह 100 प्रतिशत खरे उतरेंंगे।

Share it
Top