कोलार क्षेत्र अब होगा श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर, मिला 157 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का तोहफा

कोलार क्षेत्र अब होगा श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर, मिला 157 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का तोहफा

भोपाल। कोलार क्षेत्र को श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर के नाम से जाना जाएगा। इसका व्यवस्थित विकास कर सर्व सुविधायुक्त अल्ट्रा मॉडर्न टाउनशिप बनाई जाएगी। यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कोलार में 157 करोड़ रुपये की लागत के विकास कार्यों के शुभारंभ अवसर पर विशाल जन-समूह को संबोधित करते हुए की। उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिन 25 दिसंबर से डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर में नल-जल प्रदाय होने लगेगा। इस क्षेत्र में तहसील कार्यालय भी जल्द ही शुरू किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय भवन का लोकार्पण किया और यहां बी.ए., बॉटनी और एम.एस.सी. कक्षाएं शुरू करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि श्यामाप्रसाद मुखर्जी नगर के साथ ही बैरागढ़ क्षेत्र का भी विकास किया जाएगा। इस अवसर पर उन्होंने भोपाल शहर के शासकीय महाविद्यालयों में पढ़ रहे विद्यार्थियों को स्‍मार्ट फोन प्रदान किये। उन्होंने प्रतीक स्वरूप किसानों को खसरे की नि:शुल्क नकल भी प्रदान की। युवाओं का आह्वान करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि नया मध्य प्रदेश बनाने का संकल्प लें। नौकरी मांगने वाले नहीं, नौकरी देने वाले बनें ।
इसके लिए युवा वर्ग के लोग मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक सहायता योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना जैसी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आगे आयें। युवाओं की जिम्मेदारी केवल पढ़ाई करना और आगे बढ़कर अच्छा नागरिक बनने की है। उनकी पढ़ाई में किसी भी प्रकार की बाधा नहीं आने दी जाएगी। प्रतिभाशाली बच्चों की शिक्षा का खर्चा सरकार उठाएगी। उन्होंने कहा कि युवाओं का भविष्य किसी भी तरह खराब नहीं होने देंगे।
मुख्यमंत्री ने किसानों के लिए मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना, प्रतिभाशाली बच्चों के लिये मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना, गरीबों के लिये दीनदयाल रसोई जैसी अनूठी और नवाचारी योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि हर गरीब व्यक्ति के पास रहने के लिये अपना भूखण्ड अथवा मकान होगा। प्रदेश में अगले दो वर्षों में 15 लाख मकान बनाये जाएंगे।
"दिल से" कार्यक्रम में बेटियों से संवाद
चौहान ने बेटियों से पढ़ाई करने और आगे बढ़ने का आह्वान करते हुए कहा कि वे जल्दी ही आकाशवाणी से "दिल से" कार्यक्रम में बहनों और बेटियों से संवाद करेंगे। उन्‍होंने इसके लिये बेटियों से सुझाव भी मांगे। चौहान ने कहा कि बेटियों को स्थानीय निकायों में 50 प्रतिशत और सरकारी नौकरी में 33 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। उन्होंने कहा कि बेटियों का भविष्य संवारे बिना समाज का विकास नहीं हो सकता। मुख्यमंत्री चौहान ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर का कायाकल्प करने वाले विकास कार्यो की शुरुआत करने के लिये विधायक रामेश्वर शर्मा की सराहना की। उन्होंने स्थानीय निवासियों से स्वच्छता सर्वेक्षण में भागीदारी कर भोपाल को स्वच्छता में पहले स्थान पर लाने का संकल्प दिलाया। चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन से लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता आई है और मानसिकता भी बदली है।
राजनीति का एक मात्र उद्देश्य है जन-सेवा
भोपाल के सांसद आलोक संजर ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के अथक परिश्रम से आज मध्य प्रदेश सर्वाधिक तेज गति से प्रगति करने वाला राज्य बन गया है। अन्य राज्यों के लोग प्रदेश की अनूठी योजनाओं का अध्ययन करने आते हैं और उन्हें अपने यहां अपनाते हैं। संजर ने कहा कि मुख्यमंत्री ने विकास और समृद्धि के लिए अनुकूल वातावरण तैयार किया है और यह साबित कर दिया है कि राजनीति का एक मात्र उद्देश्य जनसेवा है।
विधायक रामेश्वर शर्मा ने स्वागत भाषण में कहा कि कोलार क्षेत्र का बेतरतीब विकास हुआ, यहां खेतों में मकान बने। जल-मल निकासी की व्यवस्था नहीं थी। इस क्षेत्र के विद्यार्थियों के लिये कोई कॉलेज नहीं था और कई नागरिक सेवाओं की कमी थी। अब पूरा दृश्य बदल रहा है। उन्होंने 157 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की शुरुआत को क्षेत्र के लिये अनुपम उपहार बताया। उन्होंने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर का विकास भोपाल शहर और प्रदेश के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जो बोलते हैं, उसे पूरा करते हैं और उसके बाद स्वयं निरीक्षण भी करते हैं।
महापौर भोपाल आलोक शर्मा ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी नगर के निवासियों को विकास कार्यों की शुरुआत पर बधाई देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश के लोगों के विकास और समृद्धि के लिये दिन रात मेहनत की है और मध्य प्रदेश का गौरव बढ़ाया है।
कोलार को मिली विकास की सौगात
मुख्यमंत्री ने कोलार क्षेत्र को आज कई महत्वपूर्ण विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होने कोलार क्षेत्र के लिए 24 करोड़ रुपये लागत की विद्युतीकरण योजना का शिलान्यास किया। सीवेज समस्या के निदान के लिये 125 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले कोलार से सीवेज नेटवर्क तक योजना के कार्य का शुभारंभ किया। राजहर्ष क्षेत्र में 7.2 करोड़ रुपये की लागत से सर्वसुविधायुक्त कॉलेज शासकीय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्नातकोत्तर महाविद्यालय का लोकार्पण किया।
कोलार का कायाकल्प
कोलार के लिए नया तहसील कार्यालय बन रहा है। पेयजल समस्या समाधान के लिये 52 करोड़ रुपये की केरवा पेयजल योजना का काम चल रहा है। बीस लाख लीटर की क्षमता वाली 5 टंकियों में से 4 टंकियों का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। कोलार के सभी वार्डों में 159 कि.मी. में जल वितरण नलिकाएं बिछाने का काम बहुत तेजी से चल रहा है। अब तक 80 कि.मी. में नलिकाएं बिछायी जा चुकी है। केरवा डैम पर 2 लाख लीटर की क्षमता वाला वाटर प्यूरीफायर टैंक एवं केरवा में 35 फिट गहरा इंटक बनकर तैयार है।
अमरनाथ कॉलोनी स्थित कलियासोत नदी पर 4.5 करोड़ रुपये से पुल का निर्माण जल्दी पूरा हो जाएगा। औद्योगिक नगर मंडीदीप के विभिन्न उद्योगों में कार्यरत कोलारवासियों को अब होशंगाबाद रोड पर लगने वाले जाम से निजात मिलने वाली है। गोल जोड़ से मंडीदीप तक लगभग 13 कि.मी. मार्ग का निर्माण किया जा रहा है। पांच करोड़ रुपये लागत से साढ़े सात मीटर चौड़ा यह मार्ग पूरी तरह सी.सी. होगा।
इस अवसर पर विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह, भोपाल संभाग आयुक्त अजात शत्रु, नगर निगम आयुक्त सुप्रियंका दास, भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े, मेयर इन काउन्सिल के सदस्य और बड़ी संख्या में स्थानीय निवासी उपस्थित थे।

Share it
Top