मुख्यमंत्री ने अपने हाथों से कराया कन्याओं को भोजन, पत्नी ने किया तिलक

मुख्यमंत्री ने अपने हाथों से कराया कन्याओं को भोजन, पत्नी ने किया तिलक

भोपाल। मान्यता है कि कन्याओं के पूजन के बिना नवरात्र का व्रत पूर्ण नहीं होता। इसी मान्यता के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भी मुख्यमंत्री निवास पर रविवार को कन्याओं का पूजन किया। मुख्यमंत्री ने जहां अपने हाथों से कन्याओं को भोजन कराया, वहीं उनकी पत्नी साधना सिंह ने कन्याओं को तिलक लगाया।
हर साल की तरह इस साल भी मुख्यमंत्री निवास पर चैत्र नवरात्र की रामनवमी पर्व के अवसर पर रविवार को कन्या- भोज और पूजन का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और उनकी पत्नी साधना सिंह ने पारंपरिक विधि-विधान से पूजन-अर्चन कर कन्याओं के पैर धोए। इसके बाद कन्याओं को भोजन कराया। कुछ छोटी कन्याओं को हो रही परेशानी को देखते हुए मुख्यमंत्री ने अपने हाथों से उन्हें भोजन कराया। वहीं, उनकी पत्नी साधना सिंह ने सभी कन्याओं को तिलक लगाया। इस कार्यक्रम में संगठन महामंत्री सुहास भगत समेत कई मंत्री मौजूद रहे। भोजन के बाद मुख्यमंत्री चौहान ने नन्ही भांजियों के साथ आत्मीय क्षण बिताए और कन्याओं को लाड़-दुलार किया।
प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को रामनवमी की शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम का जीवन भारतीय संस्कृति का प्रतीक है। उन्होंने मानवता की रक्षा का संदेश दिया और समाज में शांति, सद्भाव और सुशासन की स्थापना का मार्ग दिखाया। मानव समाज के लिये जीवन के उच्च आदर्शों और कल्याणकारी राज्य के लिये आदर्श मूल्यों की स्थापना की है। उन्होंने श्रद्धालुओं से भगवान श्री राम के आदर्शों को अपने जीवन में उतारने का संकल्प लेने का आव्हान किया है। उन्होंने कहा कि माँ अम्बे की कृपा से सबका मंगल और कल्याण हो।

Share it
Top