मुख्यमंत्री ने शहीद रामअवतार की पत्नी को सौंपा एक करोड़ सम्मान राशि का चैक

मुख्यमंत्री ने शहीद रामअवतार की पत्नी को सौंपा एक करोड़ सम्मान राशि का चैक


ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को देश की सीमा की रक्षा करते हुए शहीद हुए वीर सपूत रामअवतार लोधी के गाँव बरौआ पहुँचे। चौहान ने शहीद के चित्र पर श्रद्धा-सुमन अर्पित किए और परिवारजनों से भेंट कर उन्हें सांत्वना प्रदान की। साथ ही शहीद रामअवतार की पत्नी रचना लोधी को सम्मान राशि के रूप में एक करोड़ रूपए का चैक सौंपा।
मुख्यमंत्री ने शहीद रामअवतार लोधी के परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि रामअवतार का परिवार पूरे मध्यप्रदेश का परिवार है। उनके बेटा-बेटी पूरे प्रदेश के बेटा-बेटी हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार की ओर से शहीद की धर्मपत्नी को एक करोड़ रूपए की सम्मान निधि का चैक दिया गया है, जो सेना द्वारा दी जाने वाली राशि के अतिरिक्त है। मुख्यमंत्री ने कहा शहीद की धर्मपत्नी को ग्वालियर में फ्लैट अथवा आवासीय प्लॉट उपलब्ध कराया जायेगा। शहीद रामअवतार की माता को 5 हजार रूपए प्रतिमाह की पेंशन जीवन पर्यन्त दी जायेगी। इसके साथ ही शहीद रामअवतार की प्रतिमा स्थापित की जायेगी।
वहीं, विधायक भारत सिंह कुशवाह के आग्रह पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बरौआ गाँव में प्रवेश द्वार बनवाने और मुख्य सड़क का नाम शहीद रामअवतार के नाम पर रखने की घोषणा की। साथ ही बरौआ गाँव के स्कूल का उन्नयन कर स्कूल का नाम शहीद रामअवतार के नाम पर रखने की घोषणा भी उन्होंने की। मुख्यमंत्री ने कहा स्कूल का भवन बेहतर गुणवत्ता के साथ बनाया जायेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि शहीद रामअवतार की स्मृति को अक्षुण्ण बनाए रखने में प्रदेश सरकार हर संभव योगदान देगी।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि देश की रक्षा करते हुए अपना जीवन दाँव पर लगाने वाले अमर शहीद अमूल्य होते हैं। इनकी स्मृतियों को कभी-भी भुलाया नहीं जा सकता है। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष मनीषा यादव, नगर निगम आयुक्त विनोद शर्मा एवं एडीएम शिवराज वर्मा सहित जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

Share it
Top