मंत्री लाल सिंह आर्य की गिरफ्तारी होने से पहले लिया जाएगा इस्तीफा

मंत्री लाल सिंह आर्य की गिरफ्तारी होने से पहले लिया जाएगा इस्तीफा

भोपाल। कांग्रेस के पूर्व विधायक की हत्या के फेर में उलझे राज्य के सामान्य प्रशासन मंत्री लालसिंह आर्य की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। कोर्ट द्वारा जारी गैर जमानती वारंट को तामील करने के लिए भिंड जिला पुलिस बल ने तीन टीमें बनाई हैं। इन टीमों ने मंत्री आर्य की खोज में छापेमारी की। दो टीमों ने भिंड और गोहद में मंत्री आर्य के निवास पर जाकर मंत्री को खोजा, तो वहीं एक टीम ने मंत्री आर्य के चार इमली स्थित बंगले पर दबिश दी। भाजपा संगठन ने आर्य पर मर्डर का आरोप लगने और 6 बार से कोर्ट में पेश नहीं होने पर मीडिया में बनी सुर्खियों को गंभीरता से लिया है। कोर्ट की बार-बार अवमानना के कारण भाजपा की किरकिरी भी हो रही थी।
आर्य के फरार होने का मामला कैबिनेट की बैठक में भी उठा। सूत्रों के अनुसार मंत्री आर्य के कैबिनेट में न रहने पर सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री ने इस मामले पर चर्चा शुरू की। कैबिनेट में मौजूद अन्य मंत्री भी इस मामले को सुलझाने की बात करने लगे।
इस मामले में लालसिंह आर्य का इस्तीफा हो सकता है। आर्य को पार्टी में लगातार बढ़ते दबाव और जनता के बीच पार्टी और सरकार की किरकिरी के चलते इस्तीफा देने को कहा जा सकता है।

Share it
Top