आरपीएफ अधिकारी की बेटी से गैंगरेप, आरोपियों ने मृत समझकर छोड़ा

आरपीएफ अधिकारी की बेटी से गैंगरेप, आरोपियों ने मृत समझकर छोड़ा

भोपाल। हबीबगंज स्टेशन के समीप आरपीएफ थाने के पास कोचिंग से लौट रही छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि पीड़िता के पिता भी आरपीएफ अधिकारी हैं, फिर भी हबीबगंज जीआरपी ने मामला दर्ज करने से मना कर दिया। आखिरकार हबीबगंज थाने में मामला दर्ज कराया गया।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार न्यू जीआरपी कॉलोनी निवासी 19 वर्षीया छात्रा यूपीएससी की तैयारी कर रही है, जिसके लिए वह एमपीनगर में कोचिंग भी कर रही है। 31 अक्टूबर की शाम करीब 8 बजे वह कोचिंग से छूटी। जल्दी घर पहुंचने के फेर में उसने आरपीएफ थाने के पास से गुजरने वाला रास्ता चुना, जो सुनसान रहता है। छात्रा जैसे ही रेल्वे ट्रैक के पास पहुंची, चार बदमाशों ने उसे दबोच लिया और पास की झाड़ियों में ले गए। छात्रा ने पुलिस को बताया कि वह लगातार चीख रही थी, लेकिन उसे कहीं से भी मदद नहीं मिली। चारों बदमाशों ने बारी-बारी से उससे दुष्कर्म किया। यही नहीं, बल्कि आरोपियों ने उसे बुरी तरह नोंचा भी और पीड़िता कहीं उनकी पहचान उजागर न कर दे, इस डर से उन्होंने उसका गला दबा दिया। संभवत: आरोपी उसे मृत समझकर झाड़ियों में ही छोड़कर चले गए। छात्रा को जब होश आया, तब वह अपने घर पहुंची और आपबीती सुनाई।
हबीबगंज जीआरपी ने नहीं लिखी रिपोर्ट: प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना के तुरंत बाद छात्रा परिजनों के साथ हबीबगंज जीआरपी पहुंची थी, लेकिन वहां उसकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई। इसके बाद हबीबगंज थाने में मामला दर्ज कराया गया, जहां से शून्य पर कायमी के बाद केस डायरी हबीबगंज जीआरपी भेजी गई। बहरहाल, पुलिस ने इस सिलसिले में कबाड़ का काम करने वाले चार युवकों को हिरासत में लिया है, जिनके नाम गोलू, अमर, रमेश और राजेश हैं। ये चारों ही नशा करते हैं और अक्सर रेल पटरी के पास ताश खेलते रहते हैं।

Share it
Top