मप्र के हाईप्रोफाइल हनीट्रैप मामले में हुआ नया खुलासा.. फर्जी नाम व आधार कार्ड से होटल में बुक कराये थे कमरे..इन हाईप्रोफाइल अफसर और नेताओं को फंसा चुकी हैं लड़कियां

मप्र के हाईप्रोफाइल हनीट्रैप मामले में हुआ नया खुलासा.. फर्जी नाम व आधार कार्ड से होटल में बुक कराये थे कमरे..इन हाईप्रोफाइल अफसर और नेताओं को फंसा चुकी हैं लड़कियां


इंदौर। मध्यप्रदेश में उजागर हुए हाईप्रोफाइल हनीट्रैप मामले में अब एक नया खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह को फंसाने के लिए एक महिला ने फर्जी नाम और आधार कार्ड का इस्तेमाल किया था।

पलासिया थाना पुलिस शनिवार को देर रात रिमांड पर ली गई दो महिलाओं आरती दयाल और मोनिका यादव उर्फ सीमा को लेकर शहर के विजयनगर चौराहे स्थित 'श्री' होटल पहुंची थी, जहां उनसे रूम नंबर 104 की शिनाख्त करवाई। पुलिस ने उन्हें पहली मंजिल पर रूम नंबर 104 के सामने खड़ा करवाया और पूछा कि क्या वे इसी रूम में इंजीनियर हरभजन के साथ रुकी थीं? दोनों युवतियों ने इशारे से कहा कि हां, हम इसी कमरे में रुके थे। होटल के रजिस्टर में आरती भोपाल के नाम से रूम दर्ज था। अगस्त माह में यह रूम हरभजन ने बुक कराया था। इसके बाद पुलिस ने होटल का रिकॉर्ड जब्त किया गया। फिर पुलिस दोनों को लेकर होटल इनफिनिटी पहुंची, जहां पहले रिसेप्शन के रिकॉर्ड खंगाले। इस होटल में 30 अगस्त को आरती के नाम से रूम नंबर 414 बुक किया गया था। पुलिस ने सबूत के तौर पर बुकिंग के दौरान दिए गए आधार कार्ड और अन्य दस्तावेजों के जब्त किए हैं।

पलासिया पुलिस के अनुसार होटल इनफिनिटी में मोनिका यादव ने रुकने के लिए फर्जी नाम का उपयोग किया था। वह सीमा सोनी के नाम से होटल में रुकी थी। इस नाम का फर्जी आधार कार्ड भी होटल को दिखाया गया था। होटल से जब्त रिकॉर्ड की जांच में फर्जी आधार कार्ड का खुलासा हुआ है। इस होटल में एक और महिला छतरपुर की रूपा अहिरवार नामक महिला का रुकना भी पाया गया। इस महिला का नाम पहली बार सामने आया है। अभी तक यह महिला पुलिस रिकॉर्ड में नहीं आई थी। पुलिस इस महिला की जानकारी जुटा रही है। इस मामले में पहले ही पांच लड़कियों को गिरफ्तार किया गया है। हनी ट्रैप में शामिल पांच युवतियों ने पुलिस के समक्ष जो नाम कबूले हैं, उससे यह स्थापित हो गया है कि सभी राजनीतिक पार्टियां हमाम में नंगी है। पुलिस को कई क्लिप मिले हैं, जिसमें एक एक्स राज्यपाल, दो पूर्व मुख्यमंत्री, बीजेपी सरकार के मंत्री, वर्तमान सरकार के तीन मंत्री समेत बड़़ी संख्या में विधायक, नौकरशाह और कारोबारी शामिल हैं।

हनी ट्रैप केस में जो पांच हार्ड डिस्क पांचों आरोपी महिलाओं ;जिनमें एक 18 साल की युवती है, के कब्जे से बरामद हुईं हैं, उनसे जो इलेक्ट्रॉनिक गेजेट्स मिले हैं, प्रदेश की सत्ता हिल रही है। यहां तक कि अब जांच पर ही सवाल खड़े होने लगे हैं।


Share it
Top