मप्र के परिवहन मंत्री ने नए मोटर व्हीकल एक्ट को बताया तुगलकी फरमान

मप्र के परिवहन मंत्री ने नए मोटर व्हीकल एक्ट को बताया तुगलकी फरमान


भोपाल। नए मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर कई राज्यों में तकरार जारी है। कुछ इसको पूरी तरह लागू कर चुके हैं तो वहीं कुछ इसका विरोध कर रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार ने भी फिलहाल इसे लागू करने पर रोक लगा रखी है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केन्द्र सरकार से इस एक्ट की जुर्माना राशि पर पुनर्विचार करने की मांग की है। वहीं दूसरी ओर मप्र के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने इस एक्ट को तुगलकी फरमान बताया है।

गुरुवार को मीडिया से चर्चा करते हुए परिवहन मंत्री ने केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट को तुगलकी फरमान बताया है। उन्होंने कहा कि इस एक्ट के तहत नियमों का पालन नहीं करने पर जो जुर्माना वसूला जा रहा है, उसका बोझ आम आदमी नहीं उठा सकता है। ऐसे में मैं इस विषय पर मुख्यमंत्री कमलनाथ से बात करूंगा और जहां जरूरत होगी, वहां आम आदमी को राहत पहुंचाई जाएगी।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार के मोटर व्हीकल एक्ट संसोधन को प्रदेश में भी लागू किया जाएगा, यह तय है, लेकिन उसे पहले तर्कसंगत बनाया जाएगा। वर्तमान में विधायकों के साथ ही प्रदेश की जनता भी इसे अव्यवहारिक मान रही है। इस एक्ट के प्रावधानों को व्यवहारिक बनाने के लिए सभी से राय लेकर होमवर्क किया जा रहा है।

Share it
Top