क्रास वोटिंग करने वाले भाजपा विधायकों को सिंधिया ने दी घर वापसी की बधाई

क्रास वोटिंग करने वाले भाजपा विधायकों को सिंधिया ने दी घर वापसी की बधाई


भोपाल। म.प्र विधानसभा में बुधवार को दंड विधि संशोधन विधेयक पर मत विभाजन में नाटकीय तरीके से भाजपा के दो विधायकों नारायण त्रिपाठी (मैहर) शरद कौल (ब्यौहारी) द्वारा कांग्रेस के पक्ष में क्रास वोटिंग करने से जहां भाजपा को झटका लगा है वहीं दो विधायकों को तोड़कर अपने साथ लाने में सफलता हासिल कर कांग्रेस गदगद हो रही है। सीएम कमलनाथ के पक्ष में क्रास वोटिंग करने वाले भाजपा नेताओं को कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर घर वापसी की बधाई दी है। साथ ही कहा है कि भाजपा विधायकों ने कांग्रेस के पक्ष में मतदान कर सरकार की नीतियों से सहमति जताई है और बार बार अल्पमत की सरकार कहने वाले भाजपा के नेताओं को आईना भी दिखाया है।

बुधवार रात ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर दोनों भाजपा विधायकों को बधाई देते हुए लिखा 'म.प्र विधानसभा में आज दंड विधि संशोधन विधेयक पर मत विभाजन में भाजपा के दो विधायकों नारायण त्रिपाठी (मैहर) शरद कौल (ब्यौहारी) ने कांग्रेस के पक्ष में मतदान कर सरकार की नीतियों से सहमति जताई है। साथ ही बार-बार अल्पमत की सरकार कहने वाले भाजपा के नेताओं को आईना भी दिखाया है। आप दोनों को आपकी "घर वापसी" पर हार्दिक बधाई । मुझे पूरा विश्वास है कि हमारी सरकार मजबूती से अपने विकास कार्यों को आगे बढ़ाएगी।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को मप्र विधानसभा में गौ-रक्षकों के नाम पर गुंडागर्दी कर रहे लोगों पर लगाम कसने गौवंश वध प्रतिशेध संशोधन विधेयक 2019 प्रस्तुत किया। इस दौरान सदन में मौजूद भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी और विधायक शरद कौल ने ना केवल क्रॉस वोटिंग की बल्कि सीएम कमलनाथ के पक्ष में बयान भी दिया। दोनों विधायकों ने कमलनाथ को विकास पुरुष बताते हुए अपना समर्तन देने की बात कही है। ये दोनों ही विधायक पहले कांग्रेस में थे, लेकिन चुनाव के समय भाजपा का दामन थाम लिया था और टिकट लेकर चुनाव जीता था। अब दोनों ही विधायक फिर से कांग्रेस में वापसी करने की राह पर हैं।


Share it
Top