कचरा गाड़ी से शव ले जाने के मामले में मुख्यमंत्री ने दिए कार्रवाई के निर्देश

कचरा गाड़ी से शव ले जाने के मामले में मुख्यमंत्री ने दिए कार्रवाई के निर्देश


भोपाल। मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिले में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। यहां शव वाहन और एंबुलेंस नहीं मिलने पर महिला का शव पहले कचरा गाड़ी और फिर डंपर से पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। बुधवार को मामला संज्ञान में आने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

बुधवार सुबह सोशल मीडिया हैंडल ट्विटर पर घटना के प्रति दुख व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा, 'अशोक नगर में एक महिला के शव को शववाहन के स्थान पर कचरा गाड़ी और डंपर में ले जाने की घटना इंसानियत और मानवता को तार-तार कर देने वाली है। ऐसी घटनाएं और चित्र, दिल को झकझोर देते हैं, बर्दाश्त नहीं किए जा सकते। लापरवाही बरतने वाले दोषियों पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश।

उल्लेखनीय है कि अशोकनगर जिला अस्पताल का शव वाहन 15 जुलाई से खराब पड़ा है। एम्बुलेंस भी आठ महीने से गैराज में खड़ी है लेकिन जिम्मेदारों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। मंगलवार को पठार मोहल्ला निवासी पूजा पत्नी नरेन्द्र ओझा की मौत के बाद परिजनों ने शव वाहन के लिए फोन लगाया तो मौके पर नगर पालिका की कचरा भरने वाली ट्रैक्टर-ट्रॉली पहुंच गई। मजबूरी में परिजन कचरे की ट्रॉली में ही शव रखकर जिला अस्पताल जा रहे थे लेकिन रास्ते में वह भी खराब हो गया। उसके बाद शव उतारकर डंपर में चढ़ाया गया, तब पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पहुंच सका। पोस्टमार्टम होने के बाद शव को किराए के वाहन से ले जाना पड़ा।

Share it
Top