सामने आया जूता दिखाने वाली तस्वीर का सच, आक्रामक हुई भाजपा

सामने आया जूता दिखाने वाली तस्वीर का सच, आक्रामक हुई भाजपा

भोपाल। भाजपा के कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय की पुलिस अधिकारी को जूता दिखाने वाली तस्वीर की असलियत सामने आ गई है। फोटो में दिखाई दे रहे तत्कालीन एएसपी इंदौर, प्रमोद फडनीकर ने एक इंटरव्यू में इस फोटो का सच उजागर कर दिया है। क्योंकि कांग्रेस जिस मकसद से वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय पर निशाना लगा रही थी, व फुस्स हो निकला। फोटो का सच सामने आने के बाद अब भाजपा आक्रामक हो गई है। भाजपा ने इसे पार्टी के नेताओं की छवि खराब करने का कुत्सित प्रयास बताया है।

विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम कर्मियों से मारपीट के बाद सोशल मीडिया पर एक फोटो प्रसारित हुई थी। इसी फोटो को प्रदेश कांग्रेस द्वारा भी शेयर किया गया था। इसके साथ लिखा गया था कि बेटे ने बैट चलाया है, पिता ने चलाया था जूता। इस फोटो में वे इंदौर के तत्कालीन एएसपी प्रमोद फडनीकर को जूता दिखाते नजर आ रहे हैं। फोटो के बारे में कहा जा रहा था कि 1994 में कैलाश विजयवर्गीय ने एएसपी प्रमोद फडनीकर पर जूता तान दिया था।

लेकिन प्रमोद फडनीकर जो अब एनएसजी में आईजी हैं, ने एक इंटरव्यू में इस फोटो का सच उजागर कर दिया है। इंडिया टुडे को दिए गए साक्षात्कार में उन्होंने कहा है कि परदेशीपुरा में जलसंकट को लेकर कैलाश विजयवर्गीय एबी रोड पर धरना दे रहे थे, लेकिन मैंने नगर निगम कमिश्नर से बात करने का आश्वासन देकर उनका धरना तुड़वा दिया था। लेकिन समस्या हल नहीं हुई और इसी को लेकर विजयवर्गीय अपने समर्थकों के साथ आयुक्त के बंगले का घेराव करने निकल पड़े। जब मैंने उन्हें रोका, तो वे जूता दिखाकर कहने लगे कि साहब, आपने हमारा धरना खत्म करा दिया, ये देखिए नगर निगम के चक्कर लगाते-लगाते हमारे जूते घिस गए, लेकिन समस्या अब भी हल नहीं हुई है। उसी समय एक अखबार के फोटोग्राफर ने यह फोटो ली थी। पुलिस अधिकारी फड़नीकर ने कहा कि फोटो को गलत अर्थ के साथ प्रसारित किए जाने से उन्हें दुख हुआ है।

जनता को भ्रमित कर रही कांग्रेस: इस मामले में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी ने कांग्रेस पर जनता को भ्रमित करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि हमारे नेताओं के फोटो-वीडियो तोड़-मरोड़कर जनता को बरगलाने का प्रयास करना कांग्रेस की आदत है। उन्होंने कहा कि कैलाश विजयवर्गीय और उनके बेटे आकाश जनता के लिए लड़ने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने कहा कि हमें पूरा माननीय न्यायालय पर पूरा विश्वास है और जल्द ही दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा।


Share it
Top