छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस नेता रामचंद्र सिंहदेव का निधन

छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस नेता रामचंद्र सिंहदेव का निधन

रायपुर । छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता रामचन्द्र सिंहदेव का आज भोर में यहां निधन हो गया।वह लगभग 88 वर्ष के थे। सिंहदेव काफी समय से अस्वस्थ चल रहे थे।उनका उपचार स्थानीय निजी अस्पताल में चल रहा था।गत बुधवार को उपचार के दौरान दो बार दिल का दौरा पड़ने से उनकी स्थिति काफी गंभीर हो गई थी।डाक्टरों के अथक प्रयास के बाद भी उनकी स्थिति में सुधार नही हो रहा था।भोर में उनका निधन हो गया।
सिंहदेव का जन्म 13 फरवरी 1930 को कोरिया जिले के बैकुंठपुर में हुआ था।कॉलेज की पढाई इलाहाबाद विश्वविद्यालय से पूरी की थी। उत्तरप्रदेश एवं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी उनके सहपाठी थे।जबकि पूर्व प्रधानमंत्री वी.पी सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह उनके जूनियर रहे है।वह 1967 में कोरिया से पहली बार विधानसभा चुनाव लडे और रिकार्ड मतो से जीतकर राजनीतिक जीवन का आगाज किया।वह अविभाजित मध्यप्रदेश में अहम विभागों के मंत्री रहे।
सिंहदेव छत्तीसगढ़ के पहले वित्त मंत्री रहे।वे छत्तीसगढ राज्य के गठन से उनके अनुभव को देखते हुए मुख्यमंत्री अजित जोगी ने वित्त मंत्रालय सौंप दिया था। श्री सिंहदेव अपने सख्त राजकोषीय प्रबंधन और ईमानदारी के लिए जाना जाता था और यहां तक कि अपने 2003 चुनाव वर्ष के बजट में, वह बजट से बाहर लोकलुभावन योजनाओं से इनकार कर दिया था।यहां तक कि शासकीय कर्मचारियों के वेतन भत्तों में बढोत्तरी के विरोधी थे। पार्टी के 2003 चुनाव हार जाने के बाद पार्टी के कुछ नेताओं ने उन्हे दोषी ठहराते हुए कांग्रेस की हार के लिए उनकी नीतियों को जिम्मेदार बताया था।उऩ्होने 2008 में चुनावी राजनीति से सन्यास ले लिया था।

Share it
Top