सांसद को है 'मामा' के लोगों के दिलों में बसने से तकलीफ - शिवराज

सांसद को है मामा के लोगों के दिलों में बसने से तकलीफ - शिवराज

शिवपुरी। मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के कोलारस उपचुनाव में तीन ही दिन बचे होने के पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्थानीय कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि यहां के सांसद को यही तकलीफ है कि अगर 'मामा' लोगों के दिल में बस गया तो उनका क्या होगा।
वहीं एक अन्य सभा को संबोधित करते हुए सिंधिया ने कहा कि वे कोलारस की 'मकड़ी' हैं, जिन्होंने यहां सड़कों का जाल बिछाया।
कल यहां के ग्रामीण अंचल लुकवासा में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए दोनों नेताओं ने ये बातें कहीं।
स्वयं के लोकप्रिय नाम 'मामा' का संदर्भ देते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आपके क्षेत्र के सांसद नहीं चाहते कि हम यहां पर कुछ करके दिखाएं और आप के दिल में बसें, यही उनकी चिंता का कारण है, सांसद को यही तकलीफ है कि अगर 'मामा' लोगों के दिलों में बस गया, तो उनका क्या होगा।
उन्होंने लोगों से कहा कि भाजपा क्षेत्र का विकास करना चाहती है, केवल पांच महीने का समय दीजिए, क्षेत्र का विकास करके दिखाएंगे और अगर नहीं कर पाए तो विधानसभा चुनाव में पार्टी को हटा दीजिएगा। उन्होंने मतदाताओं से कहा कि वे एक बार पार्टी को मौका दें, पार्टी काम करके दिखाना चाहती है।
वहीं श्री सिंधिया ने खुद को 'कोलारस की मकड़ी' बताते हुए कहा कि उन्होंने कोलारस में सड़कों का जाल बिछाया है, अब मकड़ी के जाल में भाजपा को फंसाना है। उन्होंने कहा कि चुनाव की घोषणा होते ही भाजपा के मंत्री और मुख्यमंत्री कोलारस आ गए हैं, लोगों को मेरे द्वारा कराए गए कार्यों में इन्हें फंसाना है।
उन्होंने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि चुनाव आते ही मुख्यमंत्री-मंत्री सब कोलारस में दिखाई दे रहे हैं, पिछले कई महीनों से यहां आ रहे हैं, अगर समय और भी होता तो पूरा मंत्रालय कोलारस आ जाता।

Share it
Top