भोपाल: 'भोज मेट्रो' के नाम पर कांग्रेस विधायक ने जताई आपत्ति, कहा-मेट्रो ही रहने दो

भोपाल:


भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भोपाल में गुरुवार को मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का भूमिपूजन किया। शिलान्यास कार्यक्रम में उन्होंने ऐलान करते हुए कहा कि भोपाल मेट्रो रेल का नाम 'भोज मेट्रो होगा'। सीएम की घोषणा का मंच से ही कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने विरोध कर दिया। विधायक की बात सुनते ही मुख्यमंत्री असहज महसूस करते हुए उनकी तरफ देखने लगे। लेकिन भाजपा ने विधायक के विरोध पर आपत्ति जताई।

इसके बाद धन्यवाद भाषण के लिए मंच पर आए विधायक आरिफ मसूद ने मुख्यमंत्री की ओर देखते हुए कहा- दादा भाई, राजा भोज के नाम से कई काम हो चुके हैं और हो रहे हैं। इसलिए मेट्रो प्रोजेक्ट का नाम भोपाल मेट्रो ही रहने दिया जाए। इतना सुनते ही मुख्यमंत्री कमलनाथ विधायक आरिफ मसूद की तरफ असहज नजर से देखने लगे।

राजा भोज पर मेट्रो के नाम पर मसूद की आपत्ति पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी ने निशाना साधा है। उन्होंने तत्काल ट्वीट करते हुए कहा है कि 'राजा भोज के नाम से अगर विधायक आरिफ मसूद को इतनी एलर्जी है तो कल से राजा भोज की देन बड़े तालाब का पानी पीना छोड़ दें और उसके किनारे अतिक्रमण किए हुए अपने कॉलेज को भी हटाएं'। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी ने भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर को कार्यक्रम में नहीं बुलाने का भी विरोध किया। उन्होंने कहा कि भोपाल में इस प्रोजेक्ट का काम पहले ही शुरू हो गया था। कांग्रेस सरकार जनता को धोखा दे रही है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एमपी नगर में गायत्री मंदिर के पास गुरुवार को हुए भव्य शिलान्यास कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गुरुवार को भोपाल मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का भूमिपूजन किया। कार्यक्रम में 11 पंडितों ने भूमिपूजन संपन्न कराया और इसके बाद मुख्यमंत्री ने पट्टिका का अनावरण किया। इस अवसर पर सीएम ने कहा कि मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की यह मेट्रो भोज मेट्रो के नाम से जानी जाएगी। मुख्यमंत्री का संबोधन खत्म होते ही भोपाल महापौर आलोक शर्मा ने मेट्रो का नाम राजा भोज के नाम पर किए जाने का धन्यवाद किया।


Share it
Top