भाजपा ने पूछा- क्याा पी.सी.शर्मा और गोविंदसिंह के मार्गदर्शन में चल रही हनी ट्रैप मामले की जांच

भाजपा ने पूछा- क्याा पी.सी.शर्मा और गोविंदसिंह के मार्गदर्शन में चल रही हनी ट्रैप मामले की जांच


भोपाल। हनी ट्रैप मामले की जांच के दौरान एक के बाद एक तथ्यों के उजागर होने के बाद एकतरफ जहां राजनीतिक और प्रशासनिक हलकों में बेचैनी है, वहीं आरोप-प्रत्याेरोप का दौर भी शुरू हो गया है। कांग्रेस सरकार के दो मंत्रियों ने इस पूरे मामले का ठीकरा विपक्षी भारतीय जनता पार्टी पर फोड़ते हुए आरोपित महिलाओं के भाजपा से संबंधित होने की बात कही है। वहीं, दूसरी तरफ विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने मामले की जांच कर रही एटीएस के चीफ से पूछा है कि क्या इस मामले की जांच इन दो मंत्रियों के मार्गदर्शन में ही चल रही है।

हनी ट्रैप मामले को लेकर जनसंपर्क मंत्री पी.सी.शर्मा एवं सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंदसिंह ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए बयान दिए हैं। मंत्री पी.सी.शर्मा का कहना है कि यह आज का नहीं, बल्कि 15 साल पुराना मामला है । इसमें बीजेपी से जुड़ी नेत्रियां हैं, वही कई पूर्व मंत्री भी इसमें शामिल है। वहीं, सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंदसिंह ने कहा है कि ये सारा खेल प्रदेश बीजेपी की एक महिला नेता के इशारे पर चल रहा था। रैकेट के खुलासे से बीजेपी का असली चाल-चेहरा और चरित्र उजागर हुआ है।

कांग्रेस में कुछ भी ठीक नहीं

सरकार के मंत्रियों के इस बयान पर पलटवार करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा है कि कांग्रेस सरकार के दस महीने के कार्यकाल में अवैध उत्खनन, अवैध शराब की बिक्री और ट्रांसफर-पोस्टिंग के काम को धंधे की तरह करने के बाद अब हनी ट्रैप का मामला ये उजागर करता है कि कांग्रेस की सरकार में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। उन्होंने कहा कि ट्रांसफर-पोस्टिंग, टेंडर और ऐसे तमाम प्रकार के निर्णय प्रभावित करने का कार्य भी कहीं इस हनी ट्रैप के जरिए तो नहीं किया गया है, यह बताने की बजाय सरकार और उसके मंत्री जांच प्रभावित करने तथा जनता को भ्रमित करने का काम कर रहे हैं। अग्रवाल ने कहा कि एटीएस चीफ यह बताएं कि क्या हनी ट्रैप मामले की जांच डॉ. गोविंदसिंह और पी.सी.शर्मा के मार्गदर्शन में की जा रही है?

Share it
Top