गुजरात पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर कर्नाटक के प्रेस से हुआ था चोरी, तीन और गिरफ्तार

गुजरात पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर कर्नाटक के प्रेस से हुआ था चोरी, तीन और गिरफ्तार


गांधीनगर। गुजरात पुलिस ने लोकरक्षक दल भर्ती परीक्षा के पेपर लीक के मामले में तीन और मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर आज दावा किया कि यह प्रश्नपत्र कर्नाटक के मनिपाल स्थित प्रिटिंग प्रेस से चुराया गया था।

डीजीपी शिवानंद झा ने बताया कि अब तक इस मामले में कुल 14 लोग पकड़े जा चुके हैं तथा बाकी को भी जल्द ही पकड़ लिया जायेगा।

उन्होंने बताया कि गुजरात पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) और अहमदाबाद की क्राइम ब्रांच की टीम ने हरियाणा के सोनीपत निवासी विनय अरोरा, कर्नाटक के बीडर निवासी महादेव दत्तात्रेय अस्तुरे और विनोद राठौड़ को पकड़ा है। इन तीनों ने अन्य के साथ मिल कर उडुपी जिले के मणिपाल में 20 और 21 नवंबर की दरम्यानी रात एक प्रिटिंग प्रेस में चोरी की थी। वे हरियाणा पुलिस का एक पेपर चुराने की नीयत से घुसे थे पर उन्हें वहां से गुजरात एलआरडी का मामूली त्रुटी के चलते नष्ट करने के लिए रखा एक पेपर हाथ लग गया। उन्होंने इसका फोटो खींच लिया और इसे बेचने का सौदा दिल्ली निवासी एक पूर्व भारोत्ताेलक और पेपर लीक गिरोह के एक अन्य सरगना विनोद माथुर से 50 लाख में किया।

ज्ञातव्य है कि गुजरात में दो दिसंबर को होने वाली एलआरडी भर्ती परीक्षा को अंतिम समय में पेपर लीक के चलते रद्द कर दिया गया था। इसमें पौने नौ लाख अभ्यर्थी बैठने वाले थे। अब यह छह जनवरी को होगी।

पहले पकड़े गये 11 लोगों में एक महिला, एक पुलिस अधिकारी, पेपर लेने के लिए दिल्ली गये गुजरात के कुछ अभ्यर्थी तथा पेपर लीक करने वाले गिरोह के मध्य प्रदेश और दिल्ली के दो सदस्य शामिल थे।

Share it
Top