आवास विवाद पर मंत्री का पलटवार, कहा: अखिलेश का निजी मकान नहीं था सरकारी बंगला

आवास विवाद पर मंत्री का पलटवार, कहा: अखिलेश का निजी मकान नहीं था सरकारी बंगला

Uttar Pradesh
Posted at: 13-06-2018 15:00:01

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बंगला विवाद पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर पलटवार किया है। मंत्री ने कहा कि जिस आवास को अखिलेश ने खाली किया वह उनका निजी नहीं बल्कि सरकारी बंगला था। सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश यादव के बयान को 'खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे' वाली कहावत से जोड़ा है।
दरअसल आवास मामले में राज्यपाल राम नाईक ने मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखकर समुचित कार्यवाही के लिए कहा था। इसके बाद यह मामला और गरमा गया। सपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने राज्यपाल के पत्र के बाद आज एक पत्रकार वार्ता में योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने राज्यपाल को भी आड़े हाथों लिया।
अखिलेश की प्रेस कांफेंस के बाद प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने तत्काल एनेक्सी में पत्रकार वार्ता आयोजित की और अखिलेश पर पलटवार किया। मंत्री ने कहा कि अखिलेश यादव प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रहे हैं। उनकी भाषा संयमित होनी चाहिए। उन्होंने कहा सरकारी बंगला छोड़ने का आदेश उच्चतम न्यायालय ने दिया था, न कि प्रदेश सरकार ने। ऐसे में उन्हें अदालत की इज्जत करनी चाहिए। मंत्री ने कहा कि अखिलेश की प्रेस कांफ्रेंस पर 'उल्टा चोर कोतवाल को डांटे' वाली कहावत लागू होती है।
सिद्धार्थनाथ ने कहा कि अखिलेश यादव यह बात स्वयं स्वीकार कर रहे हैं कि उन्होंने उक्त सरकारी बंगले में बहुत खर्च किया। मंत्री ने अखिलेश से सवाल किया कि उन्होंने जब इतना अधिक पैसा खर्च किया तो क्या उसका हिसाब इनकम टैक्स विभाग को दिया है? मंत्री ने दूसरा सवाल किया कि मकान खाली करते वक्त अखिलेश ने बंगले की दीवार क्यों तोड़ दी?

Share it
Share it
Share it
Top