राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साफ हो गया कि सत्य परेशान हो सकता है पराजित नहीं : नड्डा

राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साफ हो गया कि सत्य परेशान हो सकता है पराजित नहीं : नड्डा


नई दिल्ली,। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राफेल सौदे पर पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इससे स्पष्ट हो गया कि सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं।

नड्डा ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहा कि न्यायालय का नाम लेकर देश के लोकप्रिय और ईमानदार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ राहुल गांधी जानबूझ कर बार-बार ऐसे बयान दिए और अदालत को राजनीति में घसीटा। चूंकि सजा से बचने के लिए राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट से माफी मांग ली थी और कोर्ट ने उनकी माफी स्वीकार कर ली, इसलिए राहुल गांधी सजा से बच गए अन्यथा उन पर इस बयानबाजी को लेकर भी कार्रवाई होती।

नड्डा ने कहा कि सड़क से संसद तक राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी ने राफेल डील मामले पर देश को गुमराह करने की भरसक कोशिश की और देश के लोकप्रिय एवं ईमानदार प्रधानमंत्री के बारे में अपमानजनक टिप्पणियां की। राहुल गांधी को इसके लिए देश से अविलंब माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी ने राफेल डील पर एक के बाद एक कई झूठ बोले। राफेल डील की कीमत को लेकर झूठ बोला, फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति और वर्तमान राष्ट्रपति को कोट करते हुए झूठ बोला, डील की प्रक्रिया को लेकर झूठ बोला और ऑफसेट पार्टनर के चुनाव को लेकर झूठ बोला ।आजादी के बाद एक कोरे झूठ के आधार पर देश की जनता को गुमराह करने का इतना बड़ा प्रयास पहले कभी नहीं हुआ। सुप्रीम कोर्ट से लेकर जनता की अदालत तक, राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी के एक-एक झूठ का पर्दाफाश हो गया है।

कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश की सभी संवैधानिक संस्थाओं का हर समय अपमान ही किया है चाहे वह सुप्रीम कोर्ट हो, सीएजी हो, चुनाव आयोग हो या फिर अन्य संवैधानिक पदों की गरिमा।

भारतीय जनता पार्टी राफेल सौदे पर पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज करने के देश की सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले का स्वागत करती है। इससे स्पष्ट हो गया है कि सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं। इस बार भी सत्य की जीत हुई है और झूठ की हार हुई है।

Share it
Top