एनआईए ने आतंकवादी समूह बनाने के मामले में दो लोगों को किया गिरफ्तार

एनआईए ने आतंकवादी समूह बनाने के मामले में दो लोगों को किया गिरफ्तार



नयी दिल्ली- राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 'केन्द्र सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने' और आतंकवादी समूह अंसारुल्ला का गठन करने से संबंधित मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

रविवार को यहां एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि एनआईए ने शनिवार को जांच के दौरान मामले से संबंधित दस्तावेजों और सामग्रियों को बरामद करने के बाद यह गिरफ्तारी की है।

एनआईए ने एक विश्वसनीय सूचना के आधार पर चेन्नई में सैयद मोहम्मद बुखारी और के घर और कार्यालय में तथा तमिलनाडु के नागपट्टिनम स्थित हसन इली एवं हरीश मोहम्मद के घरों में भी तलाशी ली थी।

एनआई ने शनिवार को तलाशी के दौरान नौ मोबाइल, 15 सिम कार्ड, सात मेमोरी कार्ड, तीन लैपटॉप, पांच हार्ड डिस्क, छह पेन ड्राइव, दो टैबलेट और तीन डीवीडी के अलावा पत्रिकाओं, बैनर, नोटिस, पोस्टर और किताबों समेत महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद किये। एनआईए ने विस्तृत जांच एवं तलाशी के बाद शनिवार को हसन अली और हरीश मोहम्मद को गिरफ्तार किया।

एनआईए के अधिकारियों ने कहा, "आरोपियों के खिलाफ विश्वसनीय जानकारियां मिली हैं कि उन्होंने भारत में और भारत के बाहर रहने के दौरान आतंकवादी समूह अंसारुल्ला की स्थापना कर भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने साजिश रची थी। इन जानकारियों के आधार पर एनआईए ने सैयद बुखारी, हसन अली और हरीश मोहम्मद के खिलाफ नौ जुलाई को मामले दर्ज किये थे।"

अधिकारियों ने बताया कि यह जानकारी भी मिली है कि इन आरोपियों और उनके सहयोगियों ने धन एकत्रित कर भारत में इस्लामी शासन की स्थापना के इरादे के साथ आतंकवादी हमलों को अंजाम देने के लिए तैयारियां की थीं।

Share it
Top