पुलवामा मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकवादी ढेर

पुलवामा मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकवादी ढेर


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शुक्रवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये। पुलवामा में किसी किस्म की अफवाह फैलने से रोकने के लिए एहतियातन मोबाइल इंटरनेट सेवा स्थगित कर दी गयी है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह के जवानों ने आतंकवादियों की उपस्थिति की खुफिया जानकारी मिलने के बाद पुलवामा जिले के अवंतीपोरा के ब्रादबडना गांव में तड़के संयुक्त रूप से घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू किया।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों ने गांव से बाहर निकलने के सभी रास्ते बंद कर दिये और घर-घर जाकर तलाश अभियान शुरू किया। इस दौरान जब वे एक विशेष क्षेत्र की तरफ बढ़ रहे थे तब आतंकवादियों ने स्वचालित हथियारों से गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और मुठभेड़ शुरू हो गयी। इस दौरान दो आतंकवादी मारे गये जिनकी पहचान नैना लिट्टर पुलवामा निवासी इरफान अहमद देगू उर्फ अबू जरार और कदलाबल पम्पोर निवासी तसदुक अमीन शाह के रूप में की गयी है। दोनों लश्कर के आतंकवादी थे और कई मामलों में वांछित थे। घटनास्थल से भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक पदार्थ तथा अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गयी है।

सूत्रों ने बताया कि इरफान इलाके में आतंकवादी हमलों की साजिश रचने और उसे अंजाम देेने में शामिल रहा है। वह पुलवामा के एलाहीबाद में 2018 में सुरक्षा बलों पर हमले में शामिल रहा है जिसमें एक जवान शहीद हो गया था।

अधिकारी ने बताया कि स्थानीय लोगों को तब तक पुलिस के साथ सहयाेग करने को कहा गया है जब तक कि विस्फोटक सामग्री आदि हटा नहीं ली जाती। किसी तरह के प्रदर्शन से बचने के लिए आसपास के क्षेत्रों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों और राज्य पुलिस के कर्मचारियों को तैनात किया गया है।


Share it
Top