अनंतनाग में शहीद जवान के पिता को पड़ा दिल का दौरा, पत्नी हुई अचेत

अनंतनाग में शहीद जवान के पिता को पड़ा दिल का दौरा, पत्नी हुई अचेत


गाजीपुर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में बुधवार को हुए आतंकी हमले में शहीद होने वाले पांच जवानों में एक गाजीपुर जनपद का भी है। उनकी शहादत की सूचना मिलते ही पिता गोरखनाथ कुशवाहा को दिल का दौरा पड़ गया। उन्हें जनपद के ही एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शहीद की पत्नी निर्मला इस खबर को सुनते ही अचेत हो गई। शहीद के गांव में कोहराम मच गया।

आतंकी हमले में शहीद सीआरपीएफ जवान महेश कुमार कुशवाहा (28 वर्ष) जनपद के जैतपुरा, आदर्श गांव निवासी गोरखनाथ कुशवाहा के दो बेटों व तीन बेटियों में सबसे छोटे थे। वह इन दिनों सीआरपीएफ की 116 बटालियन में अनन्तनाग में तैनात थे। वे 2010 में भर्ती हुए थे। इस समय महेश अनंतनाग में केपी राेड के नाम से मशहूर खानाबल-पहलगाम राेड पर जम्मू-कश्मीर पुलिस की टीम पिकेट ड्यूटी के साथ तैनात थे। बेहद व्यस्त रहने वाली इस सड़क पर माेटर साइकिल से आए दाे आतंकियाें द्वारा फेंके गये ग्रेनेड में पांच जवान शहीद हाे गए, जिनमें से एक गाजीपुर के महेश कुशवाहा भी शामिल रहे।

इस दुःखद घटना की जानकारी मिलते ही इनके पिता गोरखनाथ कुशवाहा को दिल का दौरा पड़ गया, जिनको जनपद के ही एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शहीद की पत्नी निर्मला इस खबर को सुनते ही अचेत हो गईं । शहीद महेश कुशवाहा की शादी 4 जून 2009 को जनपद के ही जखनियां तहसील निवासी निर्मला कुशवाहा से हुई थी। खबर सुन परिवार स्तब्ध रह गया और परिजनों का रोते-रोते बुरा हाल है। शहीद का पार्थिव शरीर गुरुवार की रात तक उनके गांव आने की संभावना है।


Share it
Top