सत्यपाल सिंह पर लगा बालियान का ग्रहण, नहीं मिला मंत्री पद

सत्यपाल सिंह पर लगा बालियान का ग्रहण, नहीं मिला मंत्री पद

बागपत)। बागपत के सांसद सत्यपाल सिंह और मुजफ्फरनगर के सांसद संजीव बालियान दोनों ही पश्चिमी यूपी में जाट नेता के रूप में अपनी जगह बनायी है। उनकी मजबूत स्थिति इसलिए भी मानी जा रही है क्योंकि उन्होंने रालोद को हराया है।

दोनों ही नेताओें ने लंबे समय से पश्चिम की राजनीति में सिंघासन का सुख भोगने वाले चौधरी अजीत सिंह के गढ़ को ध्वस्त कर नई पारी की शुरूआत भी कर दी है।

बागपत से सत्यपाल सिंह ने जयंत चौधरी को हराया है तो मुजफ्फरनगर से संजीव बालियान ने चौधरी अजित सिंह को शिकस्त दी है, हालांकि उनकी जीत इतनी आसान नहीं थी दोनों ही सीटों पर राजनीति के धुरंधर अजीत सिंह व बेटे जयंत ने कड़ी टक्कर दी, लेकिन मोदी लहर के सामने सब पस्त हो गए। जिसका फायदा सत्यपाल सिंह और संजीव बालियान को मिला।

राजनीति गलियारे में चर्चा थी कि पश्चिम से दोनों नेता में से किसी एक को मंत्री पद की शपथ मिलेगी,वैसा ही हुआ। मोदी मंत्रिमंडल की शपथ ग्रहण समारोह में गुरूवार को संजीव बालियान का नाम आया और वे शपथ लिये। श्री बालियान के सामने सत्यपाल का कद छोटा पड़ गया।

डाॅ सत्यपाल सिंह की करीबियों की मानें तो उन्हें इसका आभास पहले ही हो चुका था। सत्यपाल सिंह को मंत्री पद न मिलने से बागपत में विकास के कई काम रूक सकते हैं। लेकिन डाॅ सत्यपाल सिंह का कहना है कि मंत्री पद न मिलने से थोड़ा असर जरूर हो सकता है, लेकिन विकास का कोई भी कार्य नहीं रूकेगा। जनता से किये गये सभी वादे पूरे किये जायेंगे।


Share it
Top