सहारनपुर मंडल की चार में से दो सीट भाजपा और दो बसपा को मिली, बिजनौर से बसपा प्रत्याशी मलूक नागर जीते

सहारनपुर मंडल की चार में से दो सीट भाजपा और दो बसपा को मिली, बिजनौर से बसपा प्रत्याशी मलूक नागर जीते


सहारनपुर में बसपा के फजलुर्रहमान ने भाजपा सांसद राघव लखनपाल शर्मा को पराजित किया

सहारनपुर (गौरव सिंघल)। 17वीं लोकसभा के चुनाव में देश में चली जबरदस्त मोदी लहर रही। सहारनपुर मेें भाजपा के मौजूदा सांसद राघव लखन पाल शर्मा की सहारनपुर लोकसभा सीट पर 30 हजार वोटों से हार हुई है। पहली बार लोकसभा चुनाव लड़े बसपा प्रत्याशी हाजी फजलुर्रहमान कुरैशी ने 5 लाख 9 हजार से ज्यादा वोट लेकर भाजपा उम्मीदवार शर्मा को पराजित किया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष इमरान मसूद ने भी 2 लाख से ज्यादा मत प्राप्त कर सभी को चौंका दिया। पिछले चुनाव में इमरान मसूद को 4 लाख 7 हजार वोट मिले थे और भाजपा के राघव लखनपाल शर्मा को 4 लाख 71 हजार वोट मिले थे। इस बार भाजपा प्रत्याशी राघव लखनपाल शर्मा ने 4 लाख 74 हजार 251 वोट प्राप्त किए हैं जो कि पिछली बार से 3 हजार ज्यादा है। सपा-बसपा गठबंधन ने सहारनपुर में हैरतअंगेज जीत हांसिल की है। 7 मई को सहारनपुर से महागठबंधन के नेताओं मायावती, अखिलेश और अजीत सिंह ने देवबदं से अपने चुनाव अभियान की शुरूआत की थी।

सहारनपुर मंडल की कैराना लोकसभा सीट के भाजपा नए प्रत्याशी सहारनपुर-गंगोह सीट के विधायक प्रदीप चौधरी ने दो बार की सांसद सपा प्रत्याशी तबस्सुम हसन को पराजित कर भाजपा की उपचुनाव मे हुई हार का बदला ले लिया है। सहारनपुर मंडल की मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी पूर्व केंद्रीय संजीव बालियान ने महागठबंधन के रालोद प्रत्याशी चैधरी अजीत सिंह को हराकर सनसनी फैला दी। 1971 में चौधरी अजीत सिंह के पिता चौधरी चरण सिंह की मुजफ्फरनगर सीट पर हार हुई थी। चौधरी अजीत सिंह और संजीव बालियान के बीच अंतिम मतगणना के अंतिम चरण तक कड़ा मुकाबला चला। कभी अजीत सिंह तो कभी बालियान बढ़त में चल रहे थे। संजीव बालियान ने अपनी जीत का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया।

सहारनपुर मंडल की चौथी लोकसभा सीट बिजनौर पर बसपा प्रत्याशी मलूक नागर ने भाजपा के मौजूदा सांसद भारतेंद्र सिंह को पराजित कर दिया। इस तरह से सहारनपुर मंडल की चार में से दो सीट भाजपा और दो गठबंधन के खाते में चली गई।

Share it
Top