तीन तलाक से पीड़ित महिला ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, 17 को सुनवाई

तीन तलाक से पीड़ित महिला ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, 17 को सुनवाई

नई दिल्ली। एक साथ तीन तलाक दिए जाने का आरोप लगाते हुए दिल्ली की एक मुस्लिम महिला ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। महिला ने कोर्ट से कहा कि पति और ससुराल वाले दहेज के लिए मारते थे। अब एक साथ तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया है। सुप्रीम कोर्ट इस याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है। कोर्ट इस पर कल यानि 17 मई को सुनवाई करेगा।

याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को गैरकानूनी करार दिया है। कोर्ट के फैसले के बाद केंद्र सरकार ने भी अध्यादेश के जरिए इसे अपराध की श्रेणी में रखा है। महिला ने अपने पति और ससुराल वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि 22 अगस्त, 2017 को सुप्रीम कोर्ट की संविधान बेंच में ट्रिपल तलाक को असंवैधानिक करार दिया था।

Share it
Top