साध्वी प्रज्ञा सिंह ने ली भाजपा की सदस्यता, भोपाल से चुनाव लडऩा तय

साध्वी प्रज्ञा सिंह ने ली भाजपा की सदस्यता, भोपाल से चुनाव लडऩा तय



भोपाल। भारतीय जनता पार्टी का मजबूत गढ़ रहे मध्यप्रदेश की सबसे हाईप्रोफाइल लोकसभा सीट भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के सामने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का चुनाव लडऩा लगभग तय माना जा रहा है। हालांकि, अभी इसकी औपचारिक घोषणा नहीं हुई है, लेकिन देर रात उनके नाम का ऐलान हो सकता है। बुधवार को सुबह साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर भाजपा कार्यालय पहुंची और पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्य शिवराज सिंह चौहान, संगठन महामंत्री रामलाल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा और नरोत्तम मिश्रा के साथ बंद कमरे में चर्चा करने के बाद उन्होंने पार्टी की सदस्यता ले ली।

भाजपा कार्यालय में बुधवार को सुबह से हलचल देखने को मिल रही है। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने सुबह पार्टी कार्यालय पहुंची, जहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने बंद कमरे में वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करने के बाद मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि पार्टी ने उन्हें भोपाल से टिकट देने का मन बना लिया है। देर शाम तक उनके नाम की औपचारिक घोषणा भी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्र सुरक्षित रहेगा, तो हम सभी सुरक्षित रहेंगे। दिग्विजय सिंह के खिलाफ हम सभी मिलकर लड़ेंगे।

गौरतलब है कि कांग्रेस ने सबसे कठिन सीट के फॉर्मूले के तहत भोपाल सीट से अपने दिग्गज नेता और 10 साल तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे दिग्विजय सिंह को टिकट दिया है, लेकिन यहां से भाजपा ने अब तक उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। इस बीच मीडिया में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, उमा भारती, आलोक संजर, आलोक शर्मा समेत कई अन्य नेताओं के नाम सामने आए। अब साध्वी प्रज्ञा सिंह का नाम सामने आया है। एबीवीपी और दुर्गावाहिनी जैसे भाजपा के अनुषांगिक संगठनों से जुड़ी होने और कट्टर हिंदूवादी छवि के चलते साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर दिग्विजय सिंह को कड़ी टक्कर दे सकती हैं।

उल्लेखनीय है कि साल 2008 में साध्वी प्रज्ञा सिंह को मालेगांव ब्लास्ट में शामिल होने के आरोप में एनआईए ने गिरफ्तार किया था, लेकिन अदालत ने उन्हें इस मामले में क्लीनचिट देकर पिछले साल ही बरी किया था। इस मामले को लेकर दिग्विजय सिंह ने भगवा आतंकवाद का मुद्दा उछाला था, तभी से उनकी छवि हिन्दू विरोधी मानी जाने लगी है। हालांकि, अब वे मंदिरों और साधु-संतों के चक्कर काट अपनी इस छवि से बाहर निकलने में जुटे हैं। ऐसे में भाजपा की तरफ से साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर उपयुक्त चेहरा हो सकती हैं।


Share it
Top