बेमौसम बारिश-आंधी से प्रभावित परिवारों के लिए सहायता राशि की घोषणा

बेमौसम बारिश-आंधी से प्रभावित परिवारों के लिए सहायता राशि की घोषणा


नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश, राजस्थान, मणिपुर और देश के विभिन्न हिस्सों में बेमौसम बारिश और आंधी से जान-माल की भारी क्षति पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिवारों को दो-दो लाख रुपये आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है।

मंगलवार की रात गुजरात, मध्यप्रदेश, राजस्थान, मणिपुर और देश के विभिन्न हिस्सों में जान-माल की भारी क्षति हुई है। अब तक प्राप्त समाचारों के अनुसार कम से कम 30 लोगों की मौत हो गई है। खेतों में कटी फसल बारिश होने से खराब हुई है और आंधी की वजह से जगह-जगह बड़ी संख्या में पेड़ उखड़ गये हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय के ट्वीटर पर श्री मोदी ने बेमौसम बारिश और आंधी से मारे गये लोगों के प्रति गहरा दुख व्यक्त किया और मृतकों के आश्रितों को प्रधानमंत्री राहत कोष से दो-दो लाख रुपये आर्थिक मदद देने की की घोषणा की। घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया गया है।

इससे पहले श्री मोदी ने गुजरात में बेमौसम वर्षा और तूफान से जान-माल की क्षति पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए अधिकारियों को स्थिति पर निगाह रखने और प्रभावितों को हरसंभव सहायता देने का निर्देश दिया था।

मध्यप्रदेश में आंधी के साथ बारिश अौर बिजली गिरने के कारण कम से कम दस लोगों की मौत होने की सूचना यहां मिली है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इन घटनाओं को बेहद दुखदायी बताते हुए मृतकों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने पीड़ित परिजनों के प्रति संवेदनाएं प्रकट करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार पीड़ित परिवार के साथ है। राज्य में अब तक दस लोगों के मारे जाने के समाचार हैं। राजधानी भोपाल के अलावा इंदौर, धार, शाजापुर, सीहोर, उज्जैन, खरगोन, बड़वानी, राजगढ़ और अन्य जिलों में कल देर शाम के बाद तेज हवाओं के साथ बारिश हुयी और कुछ स्थानों पर बिजली भी गिरी। भीषण गर्मी के बाद इस तरह मौसम में आए अचानक बदलाव के कारण इंदौर जिले के हातोद थाना क्षेत्र में बिजली गिरने के कारण एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गयी।

इंदौर से मिले समाचार के अनुसार निवाड़ी गांव में इस घटना की सूचना के बाद कल देर शाम ही पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा और तीनों के शव अपने कब्जे में ले लिए। निवाड़ी गांव में तेज हवाओं और बारिश के बीच बिजली गिरी।

इसके अलावा धार, शाजापुर, खरगोन, श्योपुर, सीहोर, रतलाम और राजगढ़ आदि जिलों से भी इसी तरह तेज हवाओं के साथ बारिश और कुछ स्थानों पर बिजली गिरने की घटनाओं की सूचना है। इन स्थानों पर कम से कम सात लोगों की मौत की सूचनाएं हैं।

पूरे प्रदेश में इस बार अप्रैल माह से ही भीषण गर्मी पड़ रही है। तापमान अधिकांश स्थानों पर 42 डिग्री को भी पार गया था, लेकिन कल देर शाम अचानक तेज हवाओं के साथ बारिश होने के कारण अधिकतम और न्यूनतम तापमान में चार से लेकर छह डिग्री तक गिरावट दर्ज की गयी है।


Share it
Top