सपा- बसपा गठबंधन की सात सीटों पर प्रत्याशी नहीं उतारेगी कांग्रेस,कांग्रेस ने असली अपना दल के साथ दो सीटो का गठबंधन किया

सपा- बसपा गठबंधन की सात सीटों पर प्रत्याशी नहीं उतारेगी कांग्रेस,कांग्रेस ने असली अपना दल के साथ दो सीटो का गठबंधन किया


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अपनी जड़ें मजबूत करने की कवायद में जुटी कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी (सपा) बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) गठबंधन के लिये सात सीटें छोड़ने का ऐलान किया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने ऐलान किया है कि, बसपा सुप्रीमो मायावती, रालोद प्रमुख जयंत चौधरी जहां से चुनाव लड़ेंगे, वहां कांग्रेस अपना प्रत्याशी नहीं उतारेगी। प्रदेश में मैनपुरी, कन्नौज, फिरोजबाद,मुज़फ्फरनगर, बागपत समेत सात सीटों पर कांग्रेस गठबंधन के नेताओं के खिलाफ मैदान में प्रत्याशी नहीं उतारेगी।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने रविवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा " सपा-बसपा-रालोद गठबंधन ने कांग्रेस का सम्मान करते हुये अमेठी और रायबरेली सीटों पर अपना उम्मीदवार नहीं खड़ा करने का फैसला लिया था। मित्रता की इसी कड़ी को आगे बढाते हुये कांग्रेस भी गठबंधन के लिये प्रदेश की सात सीटों को छोड़ेगी।

उन्होने कहा कि सपा सरंक्षक मुलायम सिंह यादव के अलावा डिंपल यादव, अक्षय यादव के सम्मान में कांग्रेस क्रमश: मैनपुरी, कन्नौज और फिरोजाबाद में अपना उम्मीदवार खड़ा नहीं करेगी। इसके अलावा बसपा सुप्रीमो मायावती जिस सीट से चुनाव लड़ेंगी,वहां कांग्रेस का उम्मीदवार घोषित नहीं किया जायेगा। साथ ही रालोद अध्यक्ष अजित सिंह और उपाध्यक्ष जयंत चौधरी भी जिस सीट से चुनाव लड़ना चाहेंगे, उन जगहों पर उन्हे कांग्रेस का सामना नहीं करना पडेगा। एक अन्य सीट के बारे में जल्द ही खुलासा किया जायेगा।

श्री शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) से तालमेल ना करने के सवाल पर श्री बब्बर ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को केन्द्र की सत्ता से दूर रखने की हर मुमकिन कोशिश की जायेगी। इस रणनीति के तहत जमीनी नेताओं को साथ लिया जायेगा और ऐसे किसी भी दल अथवा नेता का साथ कांग्रेस हरगिज नहीं देगी जिससे जाने अनजाने मेे भाजपा को लाभ मिलता हो।

उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेेश में कांग्रेस जन अधिकार पार्टी (जअपा) के साथ सात सीटों के लिये गठबंधन करेगी। इसके तहत पांच सीटो पर जन अधिकार पार्टी अपने चुनाव चिन्ह पर चुनाव लडेगी जबकि दो पर उसके उम्मीदवार कांग्रेस के सिंबल पर चुनाव मैदान पर उतरेंगे। जअपा महासचिव आईपी कुशवाहा की मौजूदगी में श्री बब्बर ने कहा कि झांसी, चंदौली,एटा, बस्ती और एक अन्य सीट पर जअपा उम्मीदवार किस्मत आजमायेंगे जबकि गाजीपुर एवं एक अन्य पर उसके उम्मीदवार कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर मैदान में उतरेंगे। बब्बर ने कहा कि इससे पहले कांग्रेस ने असली अपना दल के साथ दो सीटो का गठबंधन किया है। गोंडा और पीलीभीत में कांग्रेस के समर्थन से अपना दल उम्मीदवार किस्मत अाजमायेंगे।

उन्होने कहा कि महान दल ने लोकसभा चुनाव में सीटों की मांग नहीं की है। उनकी दिलचस्पी विधानसभा चुनाव को लेकर है। लोकसभा चुनाव में महान दल कांग्रेस उम्मीदवारों को अपना पूरा समर्थन देगा जबकि विधानसभा चुनाव के समय उनकी सीटों की मांग को कांग्रेस पूरा करेगी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की गंगा यात्रा को लेकर श्री बब्बर ने कहा कि यात्रा के लिये सिक्यूरिटी क्लीरियेंस मिल चुकी है। कुछ एक अडचनो को भी आज ही सुलझा लिया जायेगा। श्रीमती वाड्रा की गंगा यात्रा सोमवार से प्रयागराज से शुरू होगी।


Share it
Top