कांग्रेस ने डिंपल को हराकर सैफई परिवार को दिया था बड़ा झटका

कांग्रेस ने डिंपल को हराकर सैफई परिवार को दिया था बड़ा झटका



फिरोजाबाद- विश्व में सुहाग की प्रतीक चूड़ियों के लिये मशहूर फिरोजाबाद लोकसभा सीट पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं क्योंकि यहां से प्रसपा मुखिया शिवपाल यादव व सपा से उनके भतीजे अक्षय यादव के चुनाव लड़ने की चर्चा है। इस चुनाव में भले ही कांग्रेस ने फिरोजाबाद सीट पर इन दो दिग्गजों के सामने अपना प्रत्याशी ना उतारने की पेशकश कर सैफई परिवार को राहत दी हो लेकिन 2009 के उपचुनाव में कांग्रेस ने इसी फिरोजाबाद लोकसभा सीट पर डिम्पल यादव को हराकर इतना बड़ा झटका दिया था कि जिसे सैफई परिवार कभी नहीं भूल पायेगा।

सुहाग नगरी से की थी सियासत में एंट्री

सुहागनगरी से सियासत में एंट्री करने वाली सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को लोकसभा 2009 के उपचुनाव में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व सिने स्टार राजबब्बर ने 84,947 मतों से पराजित कर जीत हासिल की थी। साल 2009 के लोकसभा चुनाव में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव कन्नौज व फिरोजाबाद सीट से चुनाव लड़े थे। उन्हें दोनों ही सीटों पर जीत मिली थी लेकिन अखिलेश ने फिरोजाबाद सीट से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद यहां उपचुनाव होने पर डिंपल यादव को चुनावी मैदान में उतारा गया था। उपचुनाव की कमान स्वयं अखिलेश यादव ने संभाली थी, इसलिए यह चुनाव सैफई परिवार के राजनीतिक कद और प्रतिष्ठा से जुड़ गया था। मुकाबला चुनौतीपूर्ण था इसलिये डिंपल यादव के लिये संजय दत्त, जया बच्चन तो राजब्ब्बर के लिये गोविंदा व सलमान खान के साथ ही फिल्मी दुनिया के कई बड़े सितारों ने फिरोजाबाद आकर चुनाव प्रचार किया था। इसके बाद भी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव बडे़ अंतराल से चुनाव हारीं। डिंपल की हार ने सैफई परिवार को इतना बड़ा झटका दिया कि सैफई परिवार इसे अब तक नहीं भूल पाया है। जब भी अखिलेश या मुलायम फिरोजाबाद आते हैं तो पराजय का दर्द जुबां पर आ जाता है।

किसे मिले थे कितने वोट

कांग्रेस के राजबब्बर-312728

सपा की डिंपल यादव-227781

प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल-213571

भाजपा के भानु प्रताप सिंह-9269

इस चुनाव में फिर प्रतिष्ठा से जुड़ी फिरोजाबाद सीट

2019 के लोकसभा चुनाव में भी सैफई परिवार के दो दिग्गज प्रसपा मुखिया शिवपाल यादव व उनके भतीजे अक्षय यादव चुनाव मैदान में आमने-सामने होंगे। इसलिए यह सीट पुनः सैफई परिवार के राजनीतिक कद और प्रतिष्ठा से जुड़ गई है। जीत का ताज कौन पहनेगा, यह तो भविष्य के गर्भ में छिपा है लेकिन सैफई परिवार के दो दिग्गजों के चुनाव मैदान में होने से इस सीट पर मुकाबला दिलचस्प हो गया है। अक्षय यादव की जीत के लिये उनके पिता प्रो. रामगोपाल यादव तो प्रसपा मुखिया शिवपाल यादव की जीत के लिये उनके बेटे आदित्य यादव गली-गली जाकर चुनाव प्रचार करने में जुटे हुये हैं।


Share it
Top