हिमाचल सरकार देगी शहीद तिलक राज के परिजनों को 20 लाख

हिमाचल सरकार देगी शहीद तिलक राज के परिजनों को 20 लाख


शिमला। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरूवार को आतंकी हमले की हिमाचल विधानसभा ने कड़ी निंदा की है। इस हमले में शहीद हुए कांगड़ा जिला के जवान तिलक राज के परिवार को राज्य सरकार ने 20 लाख रूपये देने का एलान किया है।

राज्य की विधानसभा में शुक्रवार को शोक प्रस्ताव प्रस्तुत कर शहीद जवानों को श्रद्वांजलि अर्पित की गई। शोक प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए मुख्यंमत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि आतंकी हमले में हिमाचल के कांगड़ा जिला के ज्वाली क्षेत्र के तिलक राज शहीद हुए हैं। मुख्यमंत्री ने शहीद तिलक राज के परिवार को 20 लाख रूपये की राशि देने की घोषणा की और कहा कि यह राशि शहीद के परिवार को सम्मान के तौर पर दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने आतंकी हमले की पुरजोर निंदा करते हुए कहा कि शहीदों के परिजनों को सांत्वना देते हुए दुख की इस घड़ी में सरकार उनके साथ खड़ी है।

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने शोक प्रस्ताव में हिस्सा लेते हुए कहा कि कांग्रेस विधायक दल भी दुख की इस घटना में शहीदों के परिजनों के साथ खड़ा है। यह घटना देश के समक्ष बड़ी चुनौती है और इसके पीछे पाकिस्तान का हाथ है। उन्होंने केंद्र सरकार से इस चुनौती से सख्ती से निपटने का आग्रह किया है।

माकपा विधायक राकेश सिंघा ने आतंकी वारदात पर दुख जताया और कहा कि साल 1989 के बाद का सबसे बड़ा आतंकी हमला है। सिंघा ने शहीद तिलक राज के परिवार को अपनी निजी राशि से सहयोग करने की बात कही।

पूर्व मुख्मयंत्री वीरभद्र सिंह ने शोक प्रस्ताव पर कहा कि सेना आंतकियों का हिम्मत के साथ मुकाबला कर रही है।उन्होंने कहा कि यह घटना सीमा पर न होकर जम्मू-कश्मीर की राजधानी के निकट हुई है। इससे यह जाहिर हो रहा है कि देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं हैं। सिंह ने कहा कि उन्हें फक्र है कि हमारी सेना जोश के साथ आतंकियों का मुकाबला कर रही है।

आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह, वन मंत्री गोविंद सिंह, विधायक इंद्र सिंह, धनीराम शांडिल, राकेश पठानिया, विक्रमादित्य सिंह, विक्रम जरियाल, सुरेश कश्यप और आशीष बुटेल ने भी शोक प्रस्ताव में भाग लिया। विधानसभा अध्यक्ष राजीव बिंदल भी शोक प्रस्ताव में सम्मिलत हुए।


Share it
Top