कुंभ में फिर लगी आग, बाल-बाल बचे बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन, टेंट और कई सामान जलकर हुए खाक

कुंभ में फिर लगी आग, बाल-बाल बचे बिहार के राज्यपाल    लालजी टंडन, टेंट और कई सामान जलकर हुए खाक

प्रयागराज। कुम्भ नगरी में एक बार फिर आग लगने की घटना सामने आयी है, जिसमें बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन बाल-बाल बच गए। घटना मंगलवार देर रात हुई और इसमें लालजी टंडन के कैम्प में भीषण आग लग गई। इससे टेंट पूरी तरह से जल गया। हादसे के वक्त टंडन सो रहे थे। गनीमत रही कि उन्हें किसी तरह की चोट नहीं आयी और वह बच गए। हालांकि उनका सामान जल गया।

बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन यहां कुम्भ नगरी आए हुए हैं। वह सेक्टर बीस के अरैल इलाके स्थित त्रिवेणी टेंट सिटी में रुके थे। मंगलवार देर रात करीब ढाई बजे जब वह सो रहे थे, तभी उनके अचानक उनके टेंट में भीषण आग लग गई। इससे अफरातफरी मच गई और आनन-फानन में सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रात करीब साढ़े तीन बजे कुम्भ मेले से सर्किट हाउस में शिफ्ट किया। घटना में राज्यपाल टंडन का मोबाइल, चश्मा, घड़ी व अन्य सामान जल गया।

बताया जा रहा है कि आग बिजली के शार्ट सर्किट की वजह से लगी। घटना के तुरन्त बाद आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्हें मामले की जांच की बात कही है। एक तरफ कुम्भ नगरी में जहां सभी शाही स्नान भव्य तरीके से सम्पन्न हुए हैं और श्रद्धालुओं की सुविधा को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। वहीं ऐसे में आग लगने की घटनाएं चिन्ता का सबब बनी हुई हैं। इससे पहले भी इस तरह की घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

इससे पहले सेक्टर 15 स्थित नाथ संप्रदाय के योगी महासभा के शिविर में 05 फरवरी को आग लगी थी। शिविर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपाध्यक्ष बालक नाथ के लिए विशेष रूप से तैयार दो लक्जरी टेंट आग से पूरी तरह से खाक हो गए थे। इसके अलावा आसपास के टेंटों को भी काफी नुकसान पहुंचा था। दमकल की कई गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत कर आग पर काबू पाया था।

इसके अलावा 14 जनवरी को कुम्भ के शाही स्नान से ठीक एक दिन पहले दिगम्बर अखाड़े के टेंट में आग लग गई थी। वहां पर सिलेंडर फटने के कारण हुई घटना में दस टेंट जलकर खाक हो गए थे। इसके अलावा भी आग लगने की कई घटनाएं अभी तक इस कुम्भ में हो चुकी हैं। इसके बाद 16 जनवरी को स्वामी वासुदेवानंद के शिविर में आग लगी थी। शिविर में उस समय भंडारा चल रहा था। आग लगने से भंडारे का टेंट जलकर राख हो गया था।

Share it
Top