मुजफ्फरनगर: अजित सिंह ने दिखाए तीखे तेवर, कहा यदि सत्ता छुटी तो मोदी की जगह तिहाड़ में होगी

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में रालोद सुप्रीमो चौधरी अजित सिंह ने कहा कि मोदी देश में सरकार नहीं बल्कि ईवेंट मैनेजमेंट कंपनी चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक, कारगिल विजय दिवस और यहां तक कि अटल जी की मौत को भी ईवेंट बना दिया गया। 480 अस्थि कलश बनवा दिए। इतनी तो उनमें अस्थियां भी नहीं थीं।

अजित सिंह ने कहा कि मुजफ्फरनगर से ही भाजपा सत्ता में आई थी और यहीं से दफन होगी। कहा कि गाय ने पहले सरकार की फसल खाई और अब सरकार को खायेगी। गाय की हाय भाजपा को ले डूबेगी। कहा कि मोदी आसानी से सत्ता नहीं छोड़ने वाले। यदि सत्ता छुटी तो उनकी जगह तिहाड़ में होगी।

वर्ष 2014 के लोकसभा और 2017 के विधानसभा चुनाव में हाशिए पर आ चुकी राष्ट्रीय लोकदल को संजीवनी दिलाने के लिए चौधरी अजित सिंह कड़ी मेहनत कर रहे हैं। छोटे चौधरी ने मुजफ्फरनगर को केंद्र बिंदु बना लिया है।

जिले में अब तक करीब आधा दर्जन जनसंवाद कार्यक्रम और जनसभाएं कर चुके छोटे चौधरी सोमवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद डा. संजीव बालियान के गढ़ शाहपुर में सत्ता परिवर्तन रैली करने पहुंचे हैं। इसे उनका चुनावी शंखनाद माना जा रहा है।

वर्ष 2013 में हुए दंगे के बाद समीकरण ऐसे बदले कि भाजपा के सामने अन्य राजनैतिक दल टिक नहीं पाए। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाट राजनीति का केंद्र बिंदु रही राष्ट्रीय लोकदल के सामने अस्तित्व का संकट खड़ा हो गया।

जाट वोटों बैंक को देखते हुए भाजपा ने मुजफ्फरनगर सांसद डा. संजीव बालियान को जाट नेता के रूप में प्रमोट कर दिया। उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह भी दी गई थी। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले जाट आरक्षण को लेकर भाजपा के खिलाफ उपजे विरोध को दूर करने के लिए भी पार्टी हाईकमान ने उन्हें आगे किया था।

यह शुरुआत भी शाहपुर से हो रही है। इस क्षेत्र में ही सांसद डा. संजीव बालियान का गांव कुटबा पड़ता है। संजीव बालियान ने भी कुटबा में 2013 में पहली बड़ी रैली की थी। कुटबा के ही विपिन बालियान चौधरी अजित सिंह की रैली के संयोजक हैं। वह आम आदमी पार्टी छोड़कर हाल ही में रालोद में शामिल हुए हैं।

Share it
Top