गुजरात में विहिप के पुराने मुख्यालय भवन पर कब्जे को लेकर तोगड़िया और विहिप आमने सामने

गुजरात में विहिप के पुराने मुख्यालय भवन पर कब्जे को लेकर तोगड़िया और विहिप आमने सामने



अहमदाबाद। विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) का गुजरात मुख्यालय रहे तथा इससे अलग होकर अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद (अंहिप) नाम का संगठन बनाने वाले प्रवीण तोगड़िया का अघोषित कार्यालय रहे अहमदाबाद शहर के पालडी क्षेत्र के पालडी स्मारक भवन पर कब्जे को लेकर आज दोनो पक्षों के बीच जबरदस्त तनाव के बीच वहां पुलिस तैनात कर दी गयी है।

गुजरात में विहिप के क्षेत्र मंत्री अशोक रावल ने दावा किया कि श्री तोगड़िया गैरकानूनी ढंग से इस भवन पर कब्जा जमाये बैठे हैं। दूसरी ओर श्री तोगड़िया ने दावा किया कि उन्हें और उनके समर्थकों को इस भवन से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इशारे पर बेदखल करने का प्रयास किया जा रहा है।

श्री रावल ने दावा किया कि इस भवन का मालिकाना हक विहिप और वणिकर स्मारक भवन ट्रस्ट के पास है जिसके कुल 15 में से 10 ट्रस्टी विहिप के हैं। श्री तोगड़िया और उनके चार अन्य समर्थक इसके अन्य ट्रस्टी हैं। भवन के अंदर राजनीतिक गतिविधि चलाने के कारण ट्रस्ट के न्यासी मंडल ने एक सकंल्प के जरिये इन पांचों की सदस्यता समाप्त करने का प्रयास भी पारित कर दिया है।

उधर श्री तोगडिया के समर्थक और अंहिप के एक पदाधिकारी ने कहा कि सरकार और पुलिस की दादागिरी के बल पर विहिप को इस भवन का जबरन कब्जा दिलाने का प्रयास हो रहा है और इसके खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया जायेगा।

उप पुलिस आयुक्त के एन डामारे ने कहा कि ट्रस्ट के लोगों के अंदरूनी विवाद को देखते हुए वहां पुलिस तैनात की गयी है। सहायक आयुक्त दिव्याबेन ने कहा कि भवन का कब्जा विहिप को नहीं दिलाया गया है। उधर, रावल ने कहा कि भवन से तोगड़िया समर्थकों को हटाने के लिए पुलिस से गुहार लगायी थी।

Share it
Top