सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को तोड़-मरोड़कर पेश न करे मीडिया..बीजेपी के लोग कटी पतंग न बनें तो बेहतर है: मायावती

सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को तोड़-मरोड़कर पेश न करे मीडिया..बीजेपी के लोग कटी पतंग न बनें तो बेहतर है: मायावती

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने बयान जारी कर कहा है कि सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को मीडिया तोड़-मरोड़कर पेश न करे। ट्विटर पर आज जारी अपने बयान में मायावती ने लिखा है कि माननीय न्यायालय में अपना पक्ष पूरी मजबूती से वह आगे भी रखेंगी। उन्होंने भरोसा जताया है कि कोर्ट से उन्हें इंसाफ मिलेगा। मायावती ने लिखा है, 'मीडिया व बीजेपी के लोग कटी पतंग न बनें तो बेहतर है।' बसपा अध्यक्ष ने यह भी लिखा है कि सदियों से तिरस्कृत दलित और पिछड़े वर्ग के संतों और महापुरुषों के सम्मान में बनाये गये स्मारक और पार्क उत्तर प्रदेश की शान और पर्यटन स्थल हैं। उन्होंने कहा है कि इन स्थलों से राज्य सरकार को नियमित आय भी होती है।

सहारनपुर में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या हुई 55 सहारनपुर में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या हुई 55 सहारनपुर 09 फरवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जहरीली शराब के सेवन से शनिवार को नौ और लोगों की मृत्यु के साथ मृतकों की तादाद बढ़कर 55 पहुंच गयी है। जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी बी एस सोढ़ी ने 'यूनीवार्ता' को बताया कि अस्पताल में भर्ती नौ और लोगों ने आज सुबह दम तोड़ दिया जिनका पोस्टमार्टम किया जा रहा है। उन्होने बताया कि शराब के सेवन की वजह से बीमार लोगों के अस्पताल पहुंचने का सिलसिला अभी जारी है जिनके समुचित इलाज की व्यवस्था की गयी है। इससे पहले जिलाधिकारी आलोक पाण्डेय ने सुबह पत्रकारों से बातचीत में 46 लोगों की मृत्यु की पुष्टि की थी। उन्होने कहा था कि पोस्टमार्टम में 35 लोगों की मृत्यु के पीछे अत्यधिक मात्रा मे अल्कोहल का सेवन पाया गया जबकि 11 लोगों की मौत शराब एवं अन्य कारणों से हुयी। उन्होंने बताया कि मेरठ मेडिकल कालेज में सहारनपुर से 18 लोगो को रैफर किया गया है। सहारनपुर में अभी 22 लोग जिला अस्पताल में भर्ती है। श्री पाण्डेय ने बताया कि शराब के पाउच को लखनऊ लेबोरेटरी जांच के लिये भेजा गया है। उधर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने बताया कि इस प्रकरण मे अभी तीस लोगो को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में 25 के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पुलिस ने इस सिलसिले में विशेष अभियान चलाकर 400 लीटर शराब बरामद की जबकि बडगाव इलाके मे एक शराब की भट्टी पकडी गयी है। उन्होंने बताया कि उत्तराखण्ड के बाउपुर गांव निवासी पिन्टू ने शराब के पाउच लाकर लोगो को दिये थे जिसके पीने से लोगो की मौत हो गयी। मृतको मे पिन्टू भी शामिल है। मृतक की पत्नी ने पुलिस को बताया कि पिन्टू काफी समय से शराब के धन्धे मे संलिप्त था।गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को मायावती के बनवाये स्मारकों में लगी मूर्तियों के संबंध में टिप्पणी की थी। अदालत ने कहा था कि प्राथमिक तौर पर उसका यह मानना है कि लखनऊ और नोएडा में स्मारक बनाने पर जो धन खर्च हुआ है उसे बसपा अध्यक्ष को सरकारी खजाने में जमा कराना चाहिये। अदालत की इस टिप्पणी के स्थान पर कई अखबारों और टीवी चैनलों में खबर आयी थी कि मायावती को खजाने में धन जमा कराने का आदेश दिया गया है। इस मामले की अंतिम सुनवाई दो अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट करेगा।

Share it
Top