मुजफ्फरनगर: कवाल कांड में सभी सातों आरोपी दोषी करार, आठ फरवरी को सुनाई जाएगी सजा

मुजफ्फरनगर: कवाल कांड में सभी सातों आरोपी दोषी करार, आठ फरवरी को सुनाई जाएगी सजा

मुजफ्फरनगर। वर्ष 2013 में पूरे देश को हिला देने वाले मुजफ्फरनगर दंगों की वजह बने कवाल कांड में अदालत ने सात आरोपितों को दोषी करार दिया है। अब अदालत इस मामले में आठ फरवरी को सजा सुनाएगी।

27 अगस्त 2013 में मुजफ्फरनगर जनपद के कवाल गांव में मलिकपुरा गांव के दो ममेरे भाइयों सचिन व गौरव की हत्या कर दी गई थी। इससे पहले कवाल में लड़कियों के साथ छेड़छाड़ को लेकर शाहनवाज की हत्या हुई थी। इसके बाद ही मुजफ्फरनगर समेत पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दंगे भड़क उठे थे। सचिन व गौरव हत्याकांड का मामला मुजफ्फरनगर केएडीजे 7 की अदालत में चल रहा था।

अधिवक्ता अनिल जिंदल ने बताया कि इस मामले में मृतक गौरव के पिता रविंद्र ने जानसठ कोतवाली में कवाल निवासी मुजस्सिम, मुजम्मिल, नदीम, फुरकान, अफजाल, जहांगीर, इकबाल व शाहनवाज (मृतक) के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। जबकि मृतक शाहनवाज के पिता सलीम ने दोनों मृतकों सचिन, गौरव और उनके परिजनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।

इस मामले में बनाई गई एसआईटी ने जांच के बाद शाहनवाज हत्याकांड में फाइनल रिपोर्ट दे दी थी और सचिन-गौरव हत्याकांड में पांच लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। इस मामले की सुनवाई एडीजे 7 हिमांशु भटनागर की अदालत में चल रही है।

बुधवार को अदालत ने सातों आरोपितों को दोषी करार दिया। पांच आरोपी मुजस्सिम, मुजम्मिल, फुरकान, नदीम व जहांगीर जेल में बंद हैं। जबकि अफजाल व इकबाल जमानत पर बाहर हैं। अदालत इस मामले में आठ फरवरी को फैसला सुनाएगी।

Share it
Top